• शरणार्थियों की दो नौकाएं डूबने से 100 से अधिक लोगों की मौत

लीबिया के तट से शरणार्थियों को यूरोप लेकर जाने वाली दो नौकाओं के डूबने से 20 बच्चों सहित 100 से अधिक लोग हताहत या लापता हो गए।

सहायता एजेंसी मेडीसीना सेन्स फ़्रंटियर्ज़ का कहना है कि शरणार्थियों को लेकर जाने वाली दोनों नौकाओं में कुल मिलाकर 320 से अधिक यात्री सवार थे जिनमें बच्चों और महिलाओं की भी बड़ी संख्या शामिल थी।

पहली सितम्बर को लीबिया के तट से रवाना होने वाली नौकाओं में सवार लोगों में अधिकतर का संबंध अफ़्रीक़ी देशों से था।

कुछ लोगों ने नौकाओं के मल्बे के माध्यम से अपनी जा बचाई और कुछ को लीबिया के कोस्ट गार्ड ने बचाया।

दुर्घटना में बच जाने वाले एक यात्री ने बताया कि हमारी नौका पर 165 बड़े और 20 बच्चे सवार थे लेकिनी दूसरी नौका की मोटर ने काम करना बंद कर दिया और हमने यात्रा जारी रखी मगर कुछ देर बाद हमारी नौका भी डूबने लगी।

उन्होंने बताया कि जब नौका डूबने लगी तो जिन लोगों के पास लाइफ़ जैकेट थीं या जो तैरना जानते थे केवल वही बच पाए।

संयुक्त राष्ट्र संघ की रिपोर्ट के अनुसार जारी वर्ष में पहली जनवरी से पहली जुलाई तक नौकाओं से यूरोप जाने की कोशिश में डूबने वालों की संख्या 1000 से अधिक हो गई है।

पिछले साल ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से यूरोप जाने की कोशिश  में लगभग 3 हज़ार लोग हताहत या लापता हो गए थे जबकि पौने दो लाख लोग इटली और यूरोप पहुंचे थे।

टैग्स

Sep १२, २०१८ १०:४५ Asia/Kolkata
कमेंट्स