• रूस और चीन का अब तक का सबसे बड़ा फ़ैसला

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ग़लत और मनमानी नीतियों के कारण आज अमेरिका अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अकेला पड़ता जा रहा है और साथ ही दुनिया के अधिकतर देशों ने अब उससे दूरी बनानी शुरू कर दी है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन ने कहा है कि रूस और चीन ने अब यह फ़ैसला किया है कि आपसी व्यापार के किसी भी मामले में डॉलर की जगह दोनों देशों की राष्ट्रीय मुद्रा का इस्तेमाल किया जाएगा। रूसी राष्ट्रपति ने चीन के राष्ट्रपति शी जीन पींग के साथ एक संयुक्त पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि रूस और चीन ने आर्थिक और व्यापारिक मामलों में डॉलर के स्थान पर रूबल और यूआन का उपयोग करने का निर्णय लिया है।

उल्लेखनीय है कि दोनों ही देशों ने कई बार बल देकर कहा है कि किसी भी देश को अन्य देशों की सुरक्षा और उसके आर्थिक एवं व्यापारिक हितों को ख़तरे मे डाल कर केवल अपने हितों के बारे में नई रणनीति नहीं बनाना चाहिए। चीन और रूस का कहना है कि शीत युद्ध के ख़त्म हो जाने के बावजूद अभी दुनिया शांत व सुरक्षित नहीं हुई है और अमेरिकी राष्ट्रपति अपनी ग़लत और मनमानी नीतियों के कारण दुनिया की शांति व सुरक्षा के साथ-साथ व्यापार की अहम ज़रूरतों की भी अनदेखी कर रहे हैं। (RZ)

 

टैग्स

Sep १२, २०१८ १५:३१ Asia/Kolkata
कमेंट्स