पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने अपने सऊदी अरब के दौरे के दौरान सऊदी नरेश सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ और इस देश के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान से अलग अलग भेंटवार्ता की।

सऊदी मीडिया ने इस मुलाक़ात का समाचार प्रसारित करके कहा कि दोनों देशों के नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों में विस्तार तथा महत्वपूर्ण क्षेत्रीय व अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों और आपसी रुची के विषयों पर विचार विमर्श किया।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने सऊदी नरेश और क्राउन प्रिंस से मुलाक़ात के बाद इस देश के खनिज, उद्योग और ऊर्जां मंत्री ख़ालिद अब्दुल अज़ीज़ अलफ़ालेह तथा सऊदी अरब के सार्वजनिक पूंजीनिवेश विभाग के प्रमुख यासिर रमियान तथा इस्लामी सहयोग संगठन के महासचिव यूसुफ़ अलउसैमीन से भी भेंटवार्ता की।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अपने पहले विदेशी दौरे के रूप में सऊदी अरब का चयन इस हालत में किया कि इससे पहले एक महीने से कम अवधि में सऊदी क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने तीन बार उनसे टेलीफ़ोनी वार्ता की थी। पाकिस्तान में इमरान ख़ान के सत्ता में आने के बाद पाकिस्तान की विदेश नीति विशेषकर रियाज़ - इस्लामाबाद के संबंधों पर विशेष रूप से ध्यान दिया गया और इस संबंध में राजनैतिक और अन्य हल्क़ों में कुछ और ही बात चल रही थी क्योंकि पाकिस्तान की पूर्व सरकार से सऊदी अरब के अच्छे और प्राचीन संबंध रहे हैं।

बहरहाल पाकिस्तान की नई सरकार ने सत्ता में आने के बाद से ही अपनी विदेश नीति में परिवर्तन के इशारे दिए हैं जिसमें भारत से वार्ता पर तत्परता और अमरीका के हवाले से कड़े रवैये की ओर संकेत किया जा सकता है।(AK) 

टैग्स

Sep २१, २०१८ १६:४६ Asia/Kolkata
कमेंट्स