• पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने की भारत सरकार की आलोचना

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने भारत पर युद्धोन्मादी नीतियों का आरोप लगाते हुए दिल्ली सरकार की आलोचना की है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ़ अलवी ने सोमवार को इस्लामाबाद में “परमाणु अप्रसार समझौता” के शीर्षक के अंतर्गत आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि भारत सरकार की युद्धोन्मादी नीतियों और उसके द्वारा लगातार ख़रीदे जा रहे घातक हथियारों के कारण दक्षिण एशिया की शांति स्थिरता को गंभीर ख़तरे का सामना है।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने विश्व समुदाय से अपील की है कि वे भारत द्वारा पाकिस्तान की सीमा में कुछ स्थानों को निशाना बनाकर हमला करने की धमकी और एक सीमित युद्ध की शुरुआत किए जाने को गंभीरता से ले। उन्होंने कहा कि अगर भारत ने ऐसी कोई भी ग़लती की जिससे क्षेत्र में युद्ध भड़का तो उसका प्रभाव पूरी दुनिया और विशेषकर दक्षिण एशिया पर पड़ेगा और इसकी पूरी ज़िम्मेदारी उसी की होगी जो इस युद्ध की आग को हवा दे रहा है।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ़ अलवी ने कहा कि, पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम का सैन्य पहलु कम है। उन्होंने कहा कि हमारा परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण है और केवल इसका उद्देश्य परमाणु ऊर्जा से लाभ उठाना है।

याद रहे कि पाकिस्तान के राष्ट्रपति का यह बयान ऐसी स्थिति में सामने आया है कि पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ़ ग़फ़ूर ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान के अंदर गोलीबारी जारी रखा तो पाकिस्तान सेना उसका मुंहतोड़ जवाब देगी।

ज्ञात रहे कि भारत और पाकिस्तान, आंतरिक मामलों और इसी तरह आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने में एक दूसरे पर आरोप लगाते रहते हैं। (RZ)

 

टैग्स

Oct १५, २०१८ २०:५९ Asia/Kolkata
कमेंट्स