Dec १४, २०१८ १२:१६ Asia/Kolkata
  • सऊदी अरब के खिलाफ दो प्रस्ताव पारित

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब के सैन्य समर्थन को समाप्त करने का विरोध किया था।

अमेरिकी सिनेट ने सऊदी अरब का सैन्य समर्थन समाप्त करने और सऊदी अरब की तानाशाही सरकार की आलोचना करने वाले पत्रकार की हत्या का ज़िम्मेदार समझने के प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार एक प्रस्ताव बर्नी सेन्डर्ज़ ने पेश किया था जिसके विरोध में 41 जबकि उसमें पक्ष में 56 वोट पड़े थे।

यह प्रस्ताव एसी स्थिति में पारित हुआ है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब के सैन्य समर्थन को समाप्त करने का विरोध किया था।

सऊदी अरब के खिलाफ दूसरा प्रस्ताव रिपब्लिकन सिनेटर बॉब कोरकर ने पेश किया था। इस प्रस्ताव के मसौदे में सऊदी पत्रकार जमाल खाशुकजी की हत्या के लिए सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान को ज़िम्मेदार बताया गया है। यह प्रस्ताव भी अमेरिकी सिनेट में बहुमत से पारित हो गया।

ज्ञात रहे कि दो अक्तूबर को सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशुकजी तुर्की के इस्तांबोल नगर में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में दाखिल हुए थे और वह वहां से लापता हो गये।

सऊदी अरब की तानाशाही सरकार ने 18 दिन के मौन धारण के बाद पहले तो इस खबर का खंडन किया परंतु अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण अंततः उसने इस खबर की पुष्टि की और कहा कि वाणिज्य दूतावास में होने वाली लड़ाई में वह मारे गये।

ज्ञात रहे कि यह पहली बार है जब अमेरिका की खुफिया एजेन्सी सीआईए ने सऊदी पत्रकार की हत्या के लिए सऊदी युवराज को ज़िम्मेदार बताया है।

सीआईए ने कहा है कि वह इस नतीजे पर पहुंच गयी है कि सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशुकजी की हत्या का आदेश सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमा ने दिया था। MM

कमेंट्स