Feb २१, २०१९ २०:४३ Asia/Kolkata
  • भारत-पाक में युद्ध का बिगुल बजा, पाकिस्तानी सेना को जवाबी कार्यवाही की मिली इजाज़त

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भारतीय सेना के संभावित हमलों का भरपूर और निर्णायक जवाब देने के लिए सशस्त्र सेना को अधिकार दे दिए।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में नेश्नल सुरक्षा कमेटी की बैठक में पुलवामा हमले के बाद पैदा होने वाली स्थिति और राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय पर विचार विमर्श किया गया।

प्रधानमंत्री हाऊस में होने वाली इस बैठक में पूर्ण सहमति व्यक्त की गयी है कि पाकिस्तान, पुलवामा हमले में किसी भी स्तर पर और किसी भी मार्ग से लिप्त नहीं है।

बैठक में कहा गया है कि पुलवामा हमले की योजना स्थानीय रूप से तैयार की गयी किन्तु पाकिस्तान हमले की जांच में सहयोग के लिए गंभीर पेशकश कर चुका है।

राष्ट्रीय सुरक्षा कमेटी की ओर से जारी बयान के अनुसार बैठक में आतंकवाद और विवादों के हल के लिए भारत को बार फिर वार्ता का निमंत्रण दिया गया। इस हवाले से बताया गया है कि आशा है कि भारत वार्ता की पेशकश का सकारात्मक जवाब देगा और हमले में पाकिस्तानी की धरती के प्रयोग होने का प्रमाण दिया गया तो कार्यवाही की जाएगी।

राष्ट्रीय सुरक्षा कमेटी में कहा गया है कि भारत समझे कि कश्मीर की जनता में मौत का भय क्यों ख़त्म हुआ, कश्मीरियों में भारतीय अत्याचारों पर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

कमेटी ने विश्व समुदाय से संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के अंतर्गत कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए भूमिका अदा करने की मांग की गयी है। नेश्नल सेक्युरिटी की बैठक को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि हम समझते हैं कि आतंकवाद और कट्टरपंथ क्षेत्र के बड़े मुद्दों में है और पाकिस्तान सहित पूरा क्षेत्र इसकी चपेट में है। (AK)

कमेंट्स