Mar २०, २०१९ २०:०९ Asia/Kolkata
  • न्यूज़ीलैंड की मस्जिदों पर हमला करने वाले आतंकी का पाकिस्तान से क्या है कनेक्शन?

न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों पर हमले के बाद हिरासत में लिया गया आतंकी ब्रेंटन टैरंट के बारे में पता चला है कि वह पिछले साल अक्टूबर के अंतिम और नवंबर की शुरुआत में पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान में घूम रहा था।

आतंकी टैरेंट के बारे में एक होटल के सोशल मीडिया पन्ने पर एक संदेश भी पोस्ट किया गया था जो अब हटा दिया गया है लेकिन उस पोस्ट की फ़ोटो अब भी सोशल मीडिया पर मौजूद है, उस संदेश में टैरंट ने कहा लिखा था कि, "मेरा नाम ब्रेंटन टैरंट है और मैं पहली बार पाकिस्तान का दौरा कर रहा हूं, पाकिस्तान एक शानदार जगह है, यहां के लोग बहुत मेहरबान और मेहमाननवाज़ हैं, हुंज़ा घाटी और नगर वैली की ख़ूबसूरती को कोई भी मात नहीं दे सकता, दुर्भाग्य से बहुत से लोग पाकिस्तान के वीज़ा मिलने में मुश्किलों के कारण दूसरे देश चले जाते हैं, उम्मीद है कि भविष्य में पाकिस्तानी सरकार और प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ज़रूरी बदलाव करेंगे जिससे दुनिया इस इलाक़े की ख़ूबसूरती को देखने के लिए आएगी।"

सोशल मीडिया पर मौजूद ब्रेंटन टैरंट की तारीफ़ वाला संदेश

इस बीच आतंकी टैरेंट के पाकिस्तान दौरे के बारे में और अधिक जानकारियां जुटाई जा रही हैं और यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि उसकी पाकिस्तान यात्रा के दौरान किन-किन संदिग्ध लोगों से मुलाक़ात हुई थी। इस बीच यह भी जानकारी प्राप्त हुई है कि गिलगित में आतंकी ब्रेंटन दो अलग-अगल मनी चेंजर्स (विदेशी मुद्रा बदलने वाले) से 2,300 अमरीकन डॉलर पकिस्तान रुपये में बदलवाए थे, जिसका रिकॉर्ड पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने अपने क़ब्ज़े में ले लिया है, बताया गया है कि एक मनी चेंजर से कम पैसे देने पर उनकी बहस भी हुई थी।

दूसरी ओर भारत के कट्टरपंती हिन्दू संगठनों के लोग आतंकी ब्रेंटन टैरेंट के घिनौने कारनामे पर ख़ुशियां मना रहे हैं। सोशल मीडिया पर कुछ कट्टरपंथी हिन्दुओं द्वारा आतंकी के समर्थन में पोस्ट डालने से विवाद होने की भी सूचनाएं हैं। ऐसी पोस्टों के ख़िलाफ़ लोगों ने पुलिस से भी शिकायत की है। इस बीच टैरेंट के पाकिस्तान कनेक्शन के सामने आने के बाद कट्टरपंथी हिन्दू संगठनों द्वारा आतंकी ब्रेंटन के किए जा रहे समर्थन में कमी भी आई है।

उल्लेखनीय है कि न्यूज़ीलैंड की मस्जिदों पर आतंकवादी हमला करने वाला आतंकी ब्रेंटन टैरेंट अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प का समर्थक है और उसने आतंकी हमले से पहले ट्रम्प की जमकर तारीफ़ की है। ज्ञात रहे कि शुक्रवार को न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में दो मस्जिदों पर एक आतंकवादी ने अंधाधुंध फ़ायरिंग करके हमला किया था जिसमें 50 लोग शहीद हुए और 50 के क़रीब घायल हुए हैं। (RZ)

 

टैग्स

कमेंट्स