1918, प्रचीन इस्लामी नगर और वर्तमान में सीरिया की राजधानी दमिश्क़ पर ब्रिटिश साम्राज्य ने क़ब्ज़ा कर लिया।

1943, द्वितिय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी के घटक देश डटली ने हथियार डालने के समझौते पर हस्ताक्षर किये।

1967, स्वीडन में रातोरात लैफ़्ट साइड ड्राइविंग बदलकर राईट साइड ड्राइविंग कर दी गई।

1971, फ़ार्स की खाड़ी का देश क़तर ब्रिटेन के अधिकार से स्वतंत्र हुआ। आज का दिन इस देश में राष्ट्रीय दिवस के रुप में मनाया जाता है।

1998, नेल्सन मंडेला द्वारा गुट निरपेक्ष आंदोलन शिखर सम्मेलन में कश्मीर का मुद्दा उठाये जाने पर भारत के प्रधानमंत्री वाजपेयी ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की।

2003, पाकिस्तान सरकार द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो पर देशद्रोह का मुक़दमा चलाने का निर्णय।

2004, बेसलान स्कूल संकट, रूस के बेसलान शहर में स्थित एक स्कूल में तीन दिन तक बंधक बनाए गए 1100 लोगों का संकट, 300 लोगों की मौत के साथ समाप्त हुआ, मरने वालों में आधे से ज़्यादा छोटे बच्चे थे।

2006, भारतीय मूल के भरत जगदेव ने गुयाना के राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।

2007, चीन के झिंगजियांग प्रान्त में चीनी व जर्मन विशेषज्ञों ने लगभग 16 करोड़ साल पुराने जीव के 17 दांत खोजने का दावा किया।

2007, बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री ख़ालिदा ज़िया और उनके छोटे बेटे अराफ़ात रहमान को भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ़्तार किया गया।

2009, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई. एस. रेड्डी की हेलीकाप्टर दुर्घटना में मौत हो गई।

***

3 सितम्बर सन 1918 ईसवी को प्राचीन इस्लामी नगर दमिश्क़ पर ब्रिटेन की सेना का अधिकार हो गया। प्रथम विश्व युद्ध के दौरान पश्चिमी शक्तियों का मुख्य लक्ष्य उसमानी शासन को टुकड़े टुकड़े करना था और अंतत: वे इस प्रयास में सफल रहीं और उसमानी शासन वाले क्षेत्र एक एक करके ब्रिटेन और फ़्रांस के अधिकार में चले गये यहॉ तक कि आज के दिन दमिश्क़ पर ब्रिटेन का अधिकार हो गया किंतु लंदन और पेरिस के पिछले समझौते के आधार पर दमिश्क सहित सीरिया फ़्रांस के अधिकार में चला गया।

 

 

3 सितम्बर सन 1943 ईसवी को द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी के घटक देश इटली ने हथियार डालने के समझौते पर हस्ताक्षर किये। इटली के तानाशाह मसोलीनी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किये थे जिसके बाद संयुक्त सेना ने इटली को जर्मनी से स्वतंत्र कराने के लिए व्यापक प्रयास किये और क्षेत्र से नाज़ी सेना का अधिकार समाप्त कर दिया।

 

 

3 सितम्बर सन 1971 ईसवी को कतर ब्रिटेन के अधिकार से स्वतंत्र हुआ। आज का दिन इस देश में राष्ट्रीय दिवस के रुप में मनाया जाता है। 19वीं शताब्दी में अरब प्रायद्वीप के साथ कतर भी उसमानी शासन के अधीन हो गया किंतु उसमानी शासन की शक्ति क्षीण हो जाने के कारण वर्ष 1882 से यह देश ब्रिटेन द्वारा संचालित होता था और 1916 में औपचारिक रुप से इस देश पर ब्रिटेन का अधिकार हो गया। वर्ष 1971 में फ़ार्स खाड़ी की दक्षिणी पटटी के सरदारों ने सहमति करके संयुक्त अरब इमारात की स्थापना की किंतु कतर इसी वर्ष के सितम्बर महीने में इस संघ से निकल गया और उसने अपनी स्वतंत्रता की घोषणा की। इस देश में राजशाही शासन व्यवस्था है और वह विश्व में गैस के तीसरे बड़े भंडार का स्वामी है। क़तर की जनसंख्या बहुत कम है।

 

***

12 शहरीवर सन  1294 हिजरी शम्सी को दक्षिणी ईरान में ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध संघर्ष का नेतृत्व करने वाले रईस अली दिलवारी शहीद हो गये। प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटेन ने दक्षिणी ईरान पर अधिकार करने का प्रयास किया। ऐसे समय में अली दिलवारी ने देश की रक्षा के लिए जेहाद आरंभ और ब्रिटिश सेना के मुक़ाबले के लिए जनता का नेतृत्व किया। उन्होंने दक्षिणी ईरान की महत्वपूर्ण बूशहर बंदरगाह पर अधिकार करने के ब्रिटिश सेना के प्रयासों को कई बार विफल बनाया। यह संघर्ष 7 वर्ष तक जारी रहा।

 

 

Aug ३१, २०१६ ११:२६ Asia/Kolkata
कमेंट्स