13 सितम्बर सन 1250 ईसवी को ईसाइयों और मुसलमानों के बीच मन्सूरिया नामक युद्ध आरंभ हुआ।

1922, लीबिया के अल-अज़ीज़िया इलाक़े में धरती पर उस समय तक का उच्चतम तापमान दर्ज किया गया। छाया में मापा गया यह तापमान 58 डिग्री सेंटीग्रेड था।

1923, स्पेन में सैन्य तख्तापलट, मिगेल डे प्रिमो रिवेरा ने सत्ता संभाली और एक तानाशाही सरकार की स्थापना की।

1947, भारत के विभाजन के बाद, भारतीय प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने 40 लाख हिंदूओं और मुसलमानों के पारस्परिक स्थानांतरण का सुझाव दिया।

1948, भारत के तत्कालीन उप प्रधान मंत्री वल्लभ भाई पटेल ने भारत में हैदराबाद के विलय के लिए सेना को आगे बढ़ने का आदेश दिया। 

1956, आईबीएम ने पहले ऐसे कम्पूयटर को पेश किया जिसमें डाटा स्टोर के लिए हार्डडिस्क का प्रयोग किया गया था।

1989, दक्षिण अफ़्रीक़ा में नस्लभेद के ख़िलाफ़ सबसे बड़ी रैली का आयोजन।

2000, भारत के विश्वनाथन आनन्द ने शेनयांन में पहला फ़िडे शतरंज विश्व कप जीता।

2001, अमरीका में 9/11 की चरमंथी घटना के बाद, नागरिक विमानन सेवा को पुनः शुरू कर दिया गया।

2002, इस्राईल ने फ़िलिस्तीन के अवैध अधिकृत इलाक़े ग़ज्ज़ा पट्टी पर हमला कर दिया।

2006, IBSA (भारत-ब्राजील-साउथ अफ़्रीका त्रिगुटीय संगठन) का पहला शिखर सम्मेलन ब्राज़ील की राजधानी ब्रासीलिया में शुरू हुआ।

2007, नेश्नल एरोनॉटिक्‍स स्‍पेस एडमिनिस्‍ट्रेशन (नासा) के वैज्ञानिकों ने बृहस्‍पति से तीन गुना बड़े गृह का पता लगाया।

2008, भारत की राजधानी नई दिल्ली श्रंखलाबद्ध बम धमाकों से दहल उठी, परिणामस्वरूप 30 लोग हताहत और 130 से भी अधिक घायल हो गए। 

2009, भारतीय लोक सभा में एंग्लो इंडियन समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में कोच्चि के चार्ल्स डायस को मनोनीत किया गया।

2009, चन्द्रमा पर बर्फ़ खोजने का इसरो-नासा का अभियान असफ़ल हुआ।

***

13 सितम्बर सन 1250 ईसवी को ईसाइयों और मुसलमानों के बीच मन्सूरिया नामक युद्ध आरंभ हुआ। यह युद्ध जिसे क्रूसेड के नाम से भी जाना जाता है, मिस्र में हुआ। फ्रांस के सम्राट सेन्ट लुई मिस्र पर अधिकार जमाने के प्रयास में थे किंतु विख्यात मुस्लिम कमांडर सलाहुद्दीन अय्यूबी के नेतृत्व में मुसलमान सेना ने ईसाई सेना को पराजित किया और लुई गिरफ़तार कर लिए गये।

***

13 सितम्बर सन 1658 ईसवी को इंगलैंड के पहले राष्ट्रपति ओलिवर क्रेमवल का 59 वर्ष की आयु में निधन हुआ। वे इंग्लैं के नरेश चार्ल्स प्रथम को मृत्युदंड दिए जाने के बाद इस देश में राजशाही शासन व्यवस्था को समाप्त करके वर्ष 1649 से अनौपचारिक रुप से और वर्ष 1653 से औपचारिक रुप ब्रिटेन के शासक बने और कुल मिलाकर 9 वर्ष तक अत्याचार के साथ शासन किया। क्रेमवेल के बाद उनके पुत्र ने उनका स्थान संभाला किंतु उनकी अयोग्यता के कारण उन्हें अपदस्थ कर दिया गया और इंग्लैंड में दोबारा राजशाही शासन व्यवस्था आरंभ हो गयी।

***

13 सितम्बर सन 1780 ईसवी को अमरीका के शिकागो नगर में लिफ्ट का पहला परीक्षण किया गया। इसे जॉन बेकबार्ट नामक एक अमरीकी ने बनाया था। इस परीक्षण में कुछ लोगों को 100 मीटर की उँचाई तक ले जाकर फिर नीचे लाया गया। बिजली की पहली लिफ्ट 1889 में और पहली ऑटोमेटिक लिफ़ट 1915 में बनी।

***

13 सितम्बर 1993 को फिलिस्तीनी नेता यासिर अरफात और ईस्राईली प्रधान मंत्री इस्हाक़ राबिन के बीच अमरीका की राजधानी वाशिंगटन में गज्ज़ा अरीहा नामक एक समझौता हुआ। इस समझौते के आधार पर फिलिस्तीनी प्रशासन और इस्राईल ने एक दूसरे को औपचारिकता प्रदान की। इस समझौते में इस्राईल ने पश्चिमी तट से अपनी सेनाओं को पीछे हटाने और बाद में: फिलिस्तीनी देश की स्थापना पर सहमति जताई थी। इस समझौते के आधार पर ज़ायोनी कॉलोनियों का निर्माण समाप्त होना गिरफ़तार किये गये फिलिस्तीनयों की रिहाई और देश से निकाले गये फ़िलिस्तीनयों की वापसी को सुनिश्चित बनाने पर सहमति हुई थी किंतु ज़ायोनी शासन ने इस समझौते के किसी भी भाग का क्रियान्वयन नहीं किया।

***

22 शहरीवर, सन 1365 हिजरी शम्सी को पाकिस्तान के प्रसिद्ध लिपिकार हाफिज़ मोहम्मद युसुफ़ सदीदी का लाहौर में निधन हुआ। वे वर्ष 1299 हिजरी शम्सी में चक्वाल में पैदा हुए थे। उनकी कला के नमूने पाकिस्तान के संग्रहालय में देखे जा सकते हैं।

***

3 मोहर्रम सन 7 हिजरी क़मरी को पेग़म्बरे इस्लाम (स) ने विश्व के विभिन्न देशों के राजाओं और शासकों के नाम पत्र लिखकर उन्हें इस्लाम धर्म स्वीकार करने का निमंत्रण दिया। मक्का के निवासियों के साथ हुदैबिया नामक संधि हो जाने के बाद पैग़म्बरे इस्लाम को विश्व के बड़े राजाओं और नरेशों की ओर ध्यान देने का अवसर मिला। इतिहासकारों के अनुसार इस अवधि में पैग़म्बरे इस्लाम ने 12 से 26 लिखित संदेश विभिन्न देशों को भेजे। इनमें रोम, ईरान, इथोपीया, बहरैन यमन आदि देश शामिल थे। इन पत्रों पर विभिनन देशों के शासकों ने अलग़ अलग प्रतिक्रियाएं दिखाई। पैग़म्बरे इस्लाम का प्रचार करने का यह अंदाज़ इस बात को दर्शाता है कि इस्लाम धर्म ने सच्चाई और वास्ताविकता की ओर लोगों को आमंत्रित करने के लिए तार्किक मार्ग अपनाया है। पैग़म्बरे इस्लाम द्वारा उठाए गये इस क़दम के कुछ वर्षों बाद इस्लाम धर्म बड़ी तेज़ी से विश्व में फैला।

***

 

Sep ११, २०१६ १२:१० Asia/Kolkata
कमेंट्स