• पैग़म्बरे इस्लाम सलल्लाहो अलैह व आलेही व सल्लम:

जो कोई ईश्वर के लिए तेज़ गर्मी में एक दिन रोज़ा रखे और प्यास उस पर छा जाए तो ईश्वर हज़ार फ़रिश्तों को इस काम के लिए नियुक्त करता है कि उसके चेहरे को छुएं और शुभसूचना दें यहां तक कि इफ़्तार करे।

उस समय ईश्वर फ़रमाता है, तेरी आत्मा कितनी अच्छी है। हे मेरे फ़रिश्ते! गवाह रहना कि मैंने उसे माफ़ कर दिया। 

टैग्स

मई ३१, २०१७ १६:२७ Asia/Kolkata
कमेंट्स