क़ुरआन ईश्वरीय चमत्कार-666

 

وَاتْلُ عَلَيْهِمْ نَبَأَ إِبْرَاهِيمَ (69) إِذْ قَالَ لِأَبِيهِ وَقَوْمِهِ مَا تَعْبُدُونَ (70) قَالُوا نَعْبُدُ أَصْنَامًا فَنَظَلُّ لَهَا عَاكِفِينَ (71)

 

और (हे पैग़म्बर!) उन्हें इब्राहीम का (भी) वृत्तान्त सुनाइये। (26:69) जब उन्होंने अपने बाप और अपनी जाति के लोगों से कहा कि तुम किस चीज़ की उपासना करते हो? (26:70) उन्होंने कहा कि हम मूर्तियों की पूजा करते हैं, तो हम सदैव उन्हीं की उपासना में लगे रहते हैं। (26:71)

 

 

قَالَ هَلْ يَسْمَعُونَكُمْ إِذْ تَدْعُونَ (72) أَوْ يَنْفَعُونَكُمْ أَوْ يَضُرُّونَ (73) قَالُوا بَلْ وَجَدْنَا آَبَاءَنَا كَذَلِكَ يَفْعَلُونَ (74)

 

इब्राहीम ने कहा, जब तुम इन्हें पुकारते हो तो क्या ये तुम्हारी बात सुनते हैं? (26:72) या ये तुम्हें कुछ लाभ या हानि पहुँचाते हैं? (26:73) उन्होंने कहा, (नहीं) बल्कि हमने तो अपने बाप-दादा को ऐसा ही करते पाया है। (26:74)

 

 

قَالَ أَفَرَأَيْتُمْ مَا كُنْتُمْ تَعْبُدُونَ (75) أَنْتُمْ وَآَبَاؤُكُمُ الْأَقْدَمُونَ (76) فَإِنَّهُمْ عَدُوٌّ لِي إِلَّا رَبَّ الْعَالَمِينَ (77)

 

इब्राहीम ने कहा, क्या तुमने उस पर विचार भी किया है जिसे तुम पूजते हो? (26:75) तुम भी और तुम्हारे पहले के बाप-दादा भी? (26:76) तो ये सब मेरे शत्रु हैं, सिवाय सारे संसार के (एकमात्र) पालनहार के। (26:77)

टैग्स

मई १६, २०१८ १३:२३ Asia/Kolkata
कमेंट्स