आयत क्या कहती हैं? जिन लोगों के सुधार और ईमान की आशा नहीं होती उन के लिए अत्याचार, पतन और तबाही का मार्ग प्रशस्त करता है।

आयत क्या कहती हैं? जिन लोगों के सुधार और ईमान की आशा नहीं होती उन के लिए अत्याचार, पतन और तबाही का मार्ग प्रशस्त करता है।

पिछले लोगों की उत्तराधिकारी बनने वाली जातियों को उनके इतिहास से पाठ सीखना चाहिए और जान लेना चाहिए कि यदि वे भी पिछले लोगों के मार्ग पर चले तो उन ही जैसा अंत उनकी भी प्रतीक्षा कर रहा है।

वीडियो रिपोर्टः आतंकियों के खदेड़े जाने के बाद सीरिया के हलब के आस-पास के इलाक़ों में ज़िंदगी लौटने लगी

वीडियो रिपोर्टः आतंकियों के खदेड़े जाने के बाद सीरिया के हलब के आस-पास के इलाक़ों में ज़िंदगी लौटने लगी

सीरिया के विभिन्न प्रांतो विशेष कर हलब से आतंकियों को मार भगाए जाने के बाद पलायन कर जाने वाले स्थानीय लोग अपने अपने घरों को लौटने लगे हैं। वे आतंकियों द्वारा तबाह किए गए अपने घरों के पुनर्निर्माण में जुट गए हैं।

अधिक देखी गई ख़बरें