Sep १६, २०२१ ११:३२ Asia/Kolkata
  • भारत के सबसे ऊंचे हवाई क्षेत्र में चीन की पकड़ हुई मज़बूत, नई दिल्ली को चिंता...

भारतीय मीडिया का दावा है कि चीन, सीमा पर लगे इलाक़े में सड़क निर्माण कर रहा है।

भारतीय मीडिया ने दावा किया है कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख के प्रमुख क्षेत्रों से सेना हटाने पर बनी सहमति के बाद भी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ बुनियादी ढांचे का निर्माण जारी रखे हुए है।

भारतीय मीडिया चैनलों ने दावा किया है कि सैटलाइट तस्‍वीरों से पता चलता है कि चीन देपसांग इलाके पर अपनी पकड़ को और ज्यादा मज़बूत करने में जुट गया है और सड़क का काम तेज़ी से कर रहा है।

द हॉन्गकॉन्ग पोस्ट ने अपनी इस रिपोर्ट में दावा किया है कि देपसांग इलाके में बुनियादी ढांचे का निर्माण जारी रखना भारत के प्रति चीन के असली इरादे को दर्शाता है। चीन अपनी सड़कों को न सिर्फ चौड़ा कर रहा है, बल्कि उसकी मरम्मत भी कर रहा है, ताकि उसकी पहुंच आसान हो जाए।

ज्ञात रहे कि पिछले साल पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के बाद तनाव वाले बिंदुओं पर शांति कायम करने के लिए दोनों देशों में कई स्तर की सैन्य वार्ता हुई थी और दोनों देशों के बीच डिसइंगेजमेंट पर सहमति बनी थी।

रिपोर्ट में बताया गया है कि चीनी सेना पीएलए द्वारा बुनियादी ढांचे का निर्माण इस साल के शुरुआत से ही देखा जा रहा है और हाल ही में अगस्त 2021 में भी सैटेलाइट की तस्वीरों में देखा गया है।

द हॉन्गकॉन्ग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, भारत के सबसे ऊंचे हवाई क्षेत्र दौलत बेग ओल्डी से केवल 24 किमी दूर देपसांग मैदानों तक जाने वाले तियानवेंडियन राजमार्ग के चीनी विस्तार के साथ तनाव फिर से बढ़ गया है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स