Sep २६, २०२१ १८:१४ Asia/Kolkata
  • असम में मुस्लिम नागरिकों की हत्या और उनके साथ दरिंदगी के मामले में मुख्यमंत्री पर भारी दबाव, पाकिस्तान ने उठाया यह मुद्दा

भारत के असम राज्य में पुलिस के हाथों मुस्लिम प्रदर्शनकारियों की हत्या और लाश पर फ़ोटो जर्नलिस्ट के कूदने का मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है, यहां तक कि मुख्यमंत्री पर अपने छोटे भाई के ख़िलाफ़ कार्यवाही का दबाव बढ़ गया है वहीं यह मामला पाकिस्तान ने भी उठाया है।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर दरंग हिंसा को लेकर अपने छोटे भाई के ख़िलाफ़ कार्यवाही करने के लिए दबाव है। दरंग ज़िले की पुलिस, धौलपुर नामक गांव में कथित अवैध अतिक्रमण हटाने गई थी, लेकिन पुलिस और अतिक्रमणकारियों के बीच हिंसा होने की वजह से दो लोगों की जान चली गई।  दरंग ज़िले में एसपी सुशांत सिंह बिस्वा सरमा हैं जो असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के छोटे भाई हैं।

इस घटना के बाद कांग्रेस समेत कई अन्य पक्ष सरकार पर स्थानीय पुलिस अधीक्षक यानी सुशांत बिस्वा सरमा के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं।

असम सरकार ने 23 सितंबर की घटना की जांच गुवाहाटी हाई कोर्ट के एक पूर्व जज से कराने के आदेश जारी किए हैं।

कांग्रेस से लेकर ऑल असम माइनॉरिटीज़ स्टूडेंट्स यूनियन इस घटना की जांच को लेकर सरकार द्वारा दिए गए आश्वासन से संतुष्ट नज़र नहीं आते हैं।

दूसरी ओर संयुक्त राष्ट्र में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के बाद पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख़ रशीद ने असम का हवाला देते हुए कहा है कि भारत के प्रधानमंत्री को अपने देश के अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ़ हो रहे अत्याचार को देखना चाहिए। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि उसने असम में मुसलमानों को निशाना बनाकर की गई हिंसा को लेकर शुक्रवार को भारतीय चार्ज डी अफ़ेयर्स को समन जारी किया था।

विदेश मंत्रालय ने उनसे कहा कि 'हालिया हिंसा की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है जो कि लगातार मुसलमानों के ख़िलाफ़ जारी हिंसा का एक हिस्सा है और भारत में यह राज्य के संरक्षण में सब कुछ हो रहा है।

पाकिस्तान ने कहा कि भारतीय सुरक्षाबल मुसलमानों के ख़िलाफ़ हिंसा में या तो ख़ुद शामिल हैं या फिर वे उन 'हिंदुत्व' चरमपंथियों और आतंकियों को ख़ुद सुरक्षा दे रहे हैं जो लगातार मुसलमानों के ख़िलाफ़ लिंचिंग या दूसरे तरीक़ों की यातनाओं में शामिल रहे हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स