Oct २४, २०२१ १०:१९ Asia/Kolkata
  • अगर शाहरुख़ ख़ान बीजेपी ने शामिल हो जाएं तो ड्रग्स बन जाएगी शकर!

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता ने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि  ''अगर शाहरुख़ ख़ान भाजपा में शामिल हो जाएं तो मादक पदार्थ शक्कर बन जाएंगे।''

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, भारत के महाराष्ट्र  राज्य के मंत्री छगन भुजबल  ने क्रूज़ जहाज़ पर मादक पदार्थ ज़ब्त होने के मामले  में शनिवार को भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यदि प्रसिद्ध अभिनेता शाहरुख़ ख़ान भगवा पार्टी में शामिल हो जाएं तो 'मादक पदार्थ शक्कर' बन जाएंगे। ग़ौरतलब है कि क्रूज़ जहाज़ पर मादक पदार्थ ज़ब्त होने के मामले  में गिरफ़्तार आरोपियों में अभिनेता शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान भी शामिल हैं। भुजबल ने आरोप लगाया कि गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह में मादक पदार्थ की एक बड़ी खेप ज़ब्त की गई थी, लेकिन इस मामले की जांच करने के बजाय, एक केंद्रीय एजेंसी स्वापक नियंत्रण ब्यूरो शाहरुख़ ख़ान के पीछे पड़ी है। वहीं समता परिषद-राकांपा के एक कार्यक्रम में भुजबल ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने ओबीसी कोटे पर एक अध्यादेश पारित कराया था, लेकिन भाजपा के एक पदाधिकारी ने इसे अदालत में चुनौती दे दी। उन्होंने पूछा कि क्या भाजपा अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षण देने के ख़िलाफ़ है?

भारतीय प्रधानमंत्री मोदी के दोस्त अडानी ग्रूप का मुंद्रा पोर्ट जहां 3 हज़ार किलो ड्रग्स पकड़ी गई है।

इस बीच मुंबई की स्पेशल एनडीपीएस अदालत ने क्रूज़ ड्रग मामले में शाहरुख़ ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान समेत आठ लोगों की न्यायिक हिरासत 30 अक्टूबर तक बढ़ा दी है। गुरुवार को सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश वी वी पाटिल ने उनकी न्यायिक हिरासत बढ़ाई है, जिन्हें एनडीपीएस अधिनियम से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए नामित किया गया था। हालांकि आरोपियों को अदालत में पेश नहीं किया गया। वहीं अभिनेता शाहरुख खान ने अपने बेटे आर्यन से आर्थर रोड जेल में मुलाक़ात भी की है। साथ ही एनसीबी की टीम शाहरुख़ ख़ान के घर मन्नत भी पहुंची थी जहां से एनसीबी ने शाहरुख़ ख़ान से आर्यन ख़ान से जुड़े हुए दस्तावेज़ों को मांगा था। इस बीच कई टीकाकारों का मानना है कि जिस अंदाज़ में एनसीबी क्रूज़ ड्रग मामले में कार्यावाही कर रही है अगर उसने मुंद्रा मामले में भी किया होता तो आज भारत में ड्रग्स के सबसे बड़े सप्लायर की गर्दन इस एजेंसी के हाथों में होती, लेकिन ऐसा न करके शाहरुख़ ख़ान के बेटे के मामले को जिस अंदाज़ में उछाला जा रहा है उससे लगता है कि कहीं न कहीं मुंद्रा मामले को दबाने की कोशिश है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स