Dec ०१, २०२१ ०९:१२ Asia/Kolkata
  • भारत, 23 लाख नौकरियां चली गयीं,  जानिए सबसे ज़्यादा किस क्षेत्र की नौकरियां गयीं...

भारत में कोविड महामारी की वजह से पिछले साल लगाए गए लॉकडाउन के दौरान 23 लाख या 7.5 प्रतिशत नौकरियां चली गई थीं।

बताया जाता है कि विनिर्माण, निर्माण, शिक्षा और व्यापार क्षेत्रों को सबसे ज़्यादा नुकसान पहुंचा जबकि आईटी, बीपीओ, वित्तीय सेवाओं और स्वास्थ्य क्षेत्रों को कम ही नुक़सान उठाना पड़ा।

भारत की केन्द्र सरकार ने संसद में बताया कि 25 मार्च 2020 तक यानी लॉकडाउन से पहले इन 9 क्षेत्रों में कुल 307.8 लाख लोग कार्यरत थे जो कि लॉकडाउन के बाद पहली जुलाई 2020 तक घटकर 284.8 लाख लोग ही रह गए।

रिपोर्टों में बताया गया है कि सबसे ज़्यादा विनिर्माण क्षेत्र को नुक़सान उठाना पड़ा जिसमें 14.2 लाख की नौकरियों का नुकसान हुआ।

इसी तरह निर्माण क्षेत्र में एक लाख नौकरियां, जबकि व्यापार और शिक्षा क्षेत्रों में क्रमशः 1.8 लाख और 2.8 लाख नौकरियों का नुकसान उठाना पड़ा।

उधर इसी अवधि के दौरान वित्तीय सेवा क्षेत्र में 0.4 लाख नौकरियों और आईटी या बीपीओ क्षेत्र में एक लाख नौकरियां गईं।

आंकड़ों से पता चलता है कि नौ प्रमुख क्षेत्रों में महिला श्रमिकों को 7.44 प्रतिशत नौकरी का नुकसान हुआ, जबकि लॉकडाउन से पहले और इसके बाद की अवधि के बीच 7.48 फीसदी पुरुष श्रमिकों की नौकरी छूटी थी। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स