Jan १६, २०२२ १८:४८ Asia/Kolkata
  • नरसिंहानंद को मुसलमानों के क़त्लेआम की अपील के जुर्म में नहीं, बल्कि महिलाओं के अपमान के लिए किया गया है गिरफ़्तार

हरिद्वार पुलिस ने हिंदुत्ववादी साधू यति नरसिंहानंद को शनिवार देर रात गए महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में गिरफ़्तार किया है।

नरसिंहानंद पर मुसलमानों की नस्लकुशी के लिए हिंदुओं को भड़काने और मुसलमानों के जनसंहार के अपील करने जैसे कई गंभीर आरोप हैं, लेकिन पुलिस ने उन्हें अभी गिरफ़्तार नहीं किया था।

उत्तराखंड पुलिस के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि नरसिंहानंद पर हरिद्वार में कई मुक़दमे दर्ज़ हैं। लेकिन अभी उन्हें मुक़दमा संख्या 18/22 के तहत गिरफ़्तार किया गया है। यह रुचिका नाम की एक लड़की की शिक़ायत पर दर्ज़ किया गया था।

पिछले महीने हरिद्वार में तथाकथित एक धर्म संसद आयोजित की गई थी, जिसमें नरसिंहानंद समेत उनके कई साथियों ने मुसलमानों के ख़िलाफ़ ज़हर उगला था और खुले मंच से मुसलमानों के जनसंहार की अपील की थी।

उसके बाद उनके और उनके साथियों के ख़िलाफ़ पुलिस में नामज़द शिकायत दर्ज की गई थी। पूरे देश और दुनिया में इस पर गहरी चिंता भी जताई गई, लिकन प्रशासन और पुलिस ने उनके ख़िलाफ़ कोई कार्यवाही नहीं की। लगभग एक महीने के बाद, जब सुप्रीम कोर्ट ने हस्तक्षेप किया तो सिर्फ़ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ़ वसीम रिज़वी को गिरफ्तार किया गया था।

इस्लाम और मुसलमानों के ख़िलाफ़ हमेशा ज़हर उगलने वाले हिंदुत्ववादी नरसिंहानंद के ख़िलाफ़ जनसंहार के आरोप में पुलिस ने सिर्फ़ नोटिस ही जारी किया गया था। अभी भी पुलिस का कहना है कि उन्हें महिलाओं का अपमान करने के लिए गिरफ़्तार किया जा रहा है, और हो सकता है कि हेट स्पीच मामले में भी उन्हें रिमांड पर लिया जाए। msm

टैग्स