Jan २४, २०२२ १८:३८ Asia/Kolkata
  • शरजील इमाम के ख़िलाफ़ चलेगा राजद्रोह का मुक़दमा

ऐक्टिविस्‍ट शरजील इमाम के ख़िलाफ़ भड़काऊ भाषण मामले में राजद्रोह का मुक़दमा चलेगा।

दिल्‍ली की एक अदालत ने सोमवार को शरजील इमाम के खिलाफ़ राजद्रोह समेत आईपीसी की अन्‍य कई धाराओं में आरोप तय कर दिए।

ऐडिशनल सेशंस जज अमिताभ रावत ने राजद्रोह, धर्म के आधार पर समूहों में वैमनस्‍यता फैलाना, देश की अखंडता के खिलाफ़ बयान देना, शरारत भरे बयान देने के अलावा ग़ैर क़ानूनी गतिविधियों के के तहत आरोप तय किए हैं।

मोदी सरकार द्वारा लाए गए विवादित नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ राजधानी दिल्ली के जामिया इलाक़े और अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय में विरोध प्रदर्शनों के दौरान शरजील द्वारा दिए गए भाषणों से यह मामला जुड़ा है।

दिल्‍ली पुलिस ने 2020 में शरजील इमाम के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की थी। बाद में उसमें UAPA की धाराएं भी जोड़ी गईं। 13 दिसंबर 2019 को दिल्‍ली के जामिया मिलिया इस्‍लामिया में शरजील इमाम ने भाषण दिया था। इसके बाद 16 जनवरी 2020 को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी भाषण दिया था। शरजील इमाम जनवरी 2020 से न्यायिक हिरासत में हैं।

जामिया में 13-14 दिसंबर, 2019 को हुई हिंसा को लेकर जामिया नगर पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। पुलिस ने 25 जुलाई, 2020 को मामले में चार्जशीट दायर की थी। msm

टैग्स