Jan २८, २०२२ २२:५९ Asia/Kolkata
  • सामने आया कालीचरण महाराज का कच्चा चिट्ठा

धर्मसंसद में महात्मा गांधी को बुराभला कहने वाले कालीचरण महाराज के कई राज़ सामने आए हैं।

भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर की जेल में बंद महाराष्ट्र के संत कालीचरण पर महाराष्ट्र की एक शादीशुदा महिला ने गंभीर आरोप लगाए हैं।

भारतीय संचार माध्यमों के अनुसार रायपुर पुलिस के पास महिला ने चिट्ठी भेजकर कालीचरण के बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।  इस महिला ने चिट्ठी के माध्यम से महाराज कालीचरण पर लोगों से परेशानी दूर करने के नाम पर वसूली करने और महिला भक्तों को प्रभावित करके उनसे करीबी बढ़ाने जैसी कई बातों का जिक्र किया है।

इस चिट्ठी में महिला ने लिखा है कि कालीचरण महाराज कोई संत नहीं बल्कि गेरुआ वस्त्रधारी एक ढोंगी है। कालीचरण अपने आपको काली माता का सेवक कहता है लेकिन वास्तव में वह एक भोगी और विलासी व्यक्ति है।  कालीचरण महाराज का एकमात्र धर्म सिर्फ दुखी लोगों की मदद करने के नाम पर उनसे धन प्राप्त करना और उनका शोषण करना है।

इस महिला ने अपनी चिट्ठी में ये भी लिखा कि कालीचरण लोगों से तभी मिलता या बात करता था जब लोग उन्हें पैसे दिया करते थे। कालीचरण सामान्य जीवन जीने वाला कोई संत नहीं था, बल्कि पूरे ऐशो आराम से अपनी जिंदगी बिता रहा था। कालीचरण का दिल्ली में रहने वाली एक महिला से संबंध है जो खुद कालीचरण की भक्त भी है।

रायपुर पुलिस ने महिला के नाम को गुप्त रखा है।  यह चिट्‌ठी महिला ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री, रायपुर एसएसपी को भेजी है। इस चिट्ठी की एक प्रति देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को भी भेजकर कार्रवाई की मांग की गई है।

करीब एक महीने से कालीचरण रायपुर की जेल में है। अब कोर्ट ने 25 जनवरी की रिमांड को बढ़ाकर 7 फरवरी तक कालीचरण को जेल में ही रहने का आदेश दिया है।

याद रहे कि कालीचरण ने 26 दिसंबर को रायपुर की धर्म संसद में कहा था 1947 में मोहनदास कर्मचंद गांधी ने उस वक्त देश का सत्यानाश किया। नमस्कार है नाथूराम गोडसे को, जिन्होंने उन्हें मार दिया।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स