Jan २९, २०२२ १५:०१ Asia/Kolkata
  • मोदी सरकार ने इस्राईल से पेगासस स्पाईवेयर ख़रीदा था, न्यूयॉर्क टाइम्स

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के बाद भारत में इस्राईली स्पाइवेयर बेगासस के ज़रिए जजों, राजनेताओं, पत्रकारों और अधिकारियों की जासूसी का मुद्दा एक बार फिर ज़ोर पकड़ रहा है।

अमरीकी अख़बार न्यूयॉर्क टाइम्स ने शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट में ख़ुलासा किया था कि भारत ने इस्राइली स्पाईवेयर पेगासस को ख़रीदा था।

इससे पहले जब मोदी सरकार पर पेगासस के ज़रिए जासूसी के आरोप लगे थे, तो सरकार ने इस्राईल से स्पाइवेयर ख़रदने की बात स्वीकार नहीं की थी।

पिछले साल पेगासस जासूसी सॉफ़्टवेयर के ज़रिए कई देशों में नेताओं, पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के कॉल रिकॉर्ड करने की बात सामने आई थी।

सुप्रीम कोर्ट का एक पैनल इस मामले की जांच कर रहा है।

इस बीच, राहुल गांधी ने न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए मोदी सरकार पर हमला बोला है।

गांधी का कहना है कि हमारे लोकतंत्र की प्राथमिक संस्थाओं, राजनेताओं व जनता की जासूसी करने के लिए पेगासस ख़रीदा गया था। फ़ोन टेप करके सत्ता पक्ष, विपक्ष, सेना, न्यायपालिका सब को निशाना बनाया गया है। यह देशद्रोह है। मोदी सरकार ने देशद्रोह किया है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की इस रिपोर्ट के दावे के मुताबिक़, भारत ने इस्राईल से 2017 में जासूसी सॉफ़्टवेयर ख़रीदा था। msm

टैग्स