May २१, २०२२ १६:१७ Asia/Kolkata
  • दुनिया का एकमात्र डेक-आधारित रडार निगरानी हेलीकॉप्टर रूस भारत को देगा,क्या हैं इस हेलीकाप्टर की विशेषतायें?

रूसी हथियार निर्यातक रोसोबोरोनएक्सपोर्ट के सीईओ अलेक्जेंडर मिखेयेव ने बताया है कि रूस कामोव Ka-31 डेक-आधारित रडार पिकेट हेलीकॉप्टर्स की डिलीवरी पर भारत के साथ काम करना जारी रखा हुआ है।

रूसी सरकारी समाचार एजेंसी तास की रिपोर्ट मुताबिक मिखेयेव ने कहा है कि कामोव Ka-31 को लेकर भारत के साथ काम जारी है। Ka-31 का कोई प्रतिद्वंद्वी नहीं है और यह दुनिया का एकमात्र डेक-आधारित रडार निगरानी हेलीकॉप्टर है। यह हवा और समुद्र की स्थिति को नियंत्रित करने और आर्थिक क्षेत्रों और जल क्षेत्रों की निगरानी के कार्यों का पूरी तरह से मुकाबला करता है।

इससे पहले 17 मई को एक रक्षा मैगजीन ने भारतीय रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से बताया था कि भारत ने 10 Ka-31 हेलीकॉप्टरों की डिलीवरी पर रूस के साथ बातचीत स्थगित कर दी है। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि यूक्रेन युद्ध और डिलीवरी पर अनिश्चितता के कारण भी यह फैसला लिया गया था।

ज्ञात रहे कि भारत और रूस ने मई 2019 में Ka-31 हेलीकॉप्टर को लेकर एक समझौता किया था। इसके तहत भारत रूस से 10 Ka-31 हेलीकॉप्टर खरीदने वाला था। तास के अनुसार कोरोनो वायरस महामारी के कारण बातचीत बाधित हुई थी जो फरवरी 2022 में फिर से शुरू हुई।

रिपोर्ट्स के अनुसार हेलीकॉप्टरों के एक बैच की कीमत 520 मिलियन डॉलर होगी। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स