Jun १३, २०२२ १०:३४ Asia/Kolkata

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में प्रशासन ने वेलफ़ेयर पार्टी ऑफ़ इंडिया के नेता और कार्यकर्ता आफ़रीन फ़ातिमा के पिता जावेद मुहम्मद के घर को रविवार 12 जून को तोड़ दिया।

पुलिस की भारी तैनाती के बीच दोपहर में दो बुलडोज़र शहर के करेली स्थित जावेद मुहम्मद के आवास पर पहुंचे। बुलडोजर से आगे और पीछे के गेट को गिराने के बाद घर के अंदर रखा निजी सामान निकाल कर फ़ातिमा के आवास के बगल में एक खाली भूखंड पर फेंक दिया गया।

भाजपा के नेताओं नूपुर शर्मा और नवील जिंदल द्वारा पैग़म्बरे इस्लाम पर की गई टिप्पणी के विरोध में ​पिछले 10 जून को प्रयागराज में हुआ प्रदर्शन हिंसक हो गया था। हिंसा के संबंध में प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस ने 60 से अधिक लोगों को गिरफ़्तार किया है।

वेलफ़ेयर पार्टी ऑफ़ इंडिया के नेता और सीएए विरोधी प्रदर्शनों में एक प्रमुख चेहरा रहे जावेद मुहम्मद को यूपी पुलिस ने 10 अन्य लोगों के साथ मुख्य साज़िशकर्ता बनाया है।

बीते 10 जून को उन्हें उनके करेली स्थित आवास से हिरासत में ले लिया गया था। परिवार के सदस्यों का कहना है कि उसी दिन बाद में उनकी पत्नी और बेटी को भी हिरासत में ले लिया गया।

पुलिस का दावा है कि 10 जून को विरोध प्रदर्शन का आह्वान जावेद मुहम्मद ने ही किया था.

इसके बाद 11 जून को उनके आवास को गिराने का नोटिस परिवार को सौंपा गया था, जिसके बाद पुलिस कथित तौर पर प्रयास कर रही है कि परिवार अपना घर छोड़ दे क्योंकि इस समय परिवार की कई महिला सदस्य घर में रह रही हैं। मुहम्मद जावेद की पुत्री 

(AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स