Mar २५, २०२० २३:४७ Asia/Kolkata
  • कश्मीरी नेताओं को आज़ाद करने की फिर उठी मांग

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने पीडीपी की प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती और फ़ारूक़ अब्दुल्लाह सहित कश्मीर की हुर्रियत कांफ़्रेंस के नेताओं और विपक्षीय दलों के नेताओं को स्वतंत्र करने की मांग की है।

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय जेल से 18 महीने के बाद रिहा होने वाले जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेश्नल कांफ़्रेंस के नेता उमर अब्दुल्लाह ने कहा है कि कश्मीरी नेताओं की गिरफ़्तारी जबकि पूरे भारत में 21 दिन का लाॅक डाॅउन है, बहुत ही निर्दयतापूर्ण कार्यवाही है।

इससे पहले भी भारत के विभिन्न राजनैतिक दलों ने कश्मीरी नेताओं की स्वतंत्रता की अपील की थी।

5 अगस्त को जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे की समाप्ति के बाद से भारत सरकार ने नरेन्द्र मोदी सरकार के इस फ़ैसले का विरोध करने वाले 5 हज़ार से अधिक राजनेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार कर लिया था जिनमें से अब तक बहुत से लोगों को स्वतंत्र किया जा चुका है जबकि अब भी लगभग 36 नेता जेलों में ही हैं। (AK) 

कमेंट्स