Mar २६, २०२० २१:०३ Asia/Kolkata
  • भारत, जनता नहीं है कोरोना वायरस को लेकर गंभीर, जागरूकता अभियान जारी

भारत में कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि के साथ लोगों में जागरूता पैदा करने की भी कोशिशें हो रही हैं और इसी के अंतर्गत पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री जनता के बीच पहुंची और उन्होंने लोगों से आपस में दूरियां बनाए रखने का तरीक़ा सिखाया।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जनता के बीच हाज़िर हुईं और उन्होंने बताया कि वे आपस में कैसे दूरियां बनाए रखें।

गुरुवार को एक सब्ज़ी बाज़ार पहुचीं ममता ने बकायदा ईंट का टुकड़ा हाथ में लेकर सड़क पर गोला बनाया और लोगों को बताया कि इस बीमारी से बचना है तो वे सभी कम से कम इतनी दूरी तो ज़रूर बनाए रखें।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दिखाया गया है कि ममता बनर्जी न सिर्फ़ सड़क पर गोले के निशान बनाती हुई दिख रही हैं बल्कि एक साथ कई लोगों के खड़े होने पर उन्हें बंगाली भाषा में यह भी निर्देश दे रही हैं कि अगर कोरोना से बचाव करना है तो बिल्कुल ऐसा न करें।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन में फंसे बंगालियों के लिए चिंता व्यक्त की और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए देश के 18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है।

ममता बनर्जी ने अपने पत्र में राज्यों के मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन में फंसे बंगालियों की देखरेख करने, खाने-पीने की व्यवस्था करने और छत मुहैया कराने की अपील की है।

उन्होंने यह भी कहा है कि बंगाल में जो भी उन राज्यों के लोग फंसे हैं, पश्चिम बंगाल सरकार उनकी देखभाल करेगी।

18 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम अपने पत्र में ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल के कामकाजी लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में हैं। लॉकडाउन की वजह से वह अपने घर वापस नहीं आ सके और अलग-अलग जगहों पर फंस गए हैं। हमें ऐसी सूचनाएं मिली हैं कि बंगाल के रहने वाले कई वर्कर्स आपके राज्यों में भी फंस गए हैं। वे 50 से 100 के समूह में हैं और स्थानीय प्रशासन द्वारा आसानी से चिन्हित किए जा सकते हैं। (AK)

कमेंट्स