Mar २८, २०२० १९:२२ Asia/Kolkata
  • कोरोना वायरस, भारत में एक शख़्स की वजह से 40 हज़ार लोग कोरंटीन

भारत के पंजाब राज्य के 20 गांवों के 40,000 लोगों को उस वक़्त कोरंटीन कर दिया गया, जब अधिकारियों को यह पता चला कि वहां फैलने वाले कोरोना वायरस के लिए उस इलाक़े का एक व्यक्ति ज़िम्मेदार है।

हालांकि जिस शख़्स को इलाक़े में कोरोना वायरस की महामारी फैलने के लिए ज़िम्मेदार बताया जा रहा है, उसकी मौत हो चुकी है।

प्राप्त रिपोर्टों के मुताबिक़, सिख़ प्रचारक व धर्मगुरु कि जिन की कोरोना से संक्रमित होने के कारण मौत हो चुकी है, इटली और जर्मनी से वापस लौटे थे, लेकिन वापसी पर उन्होंने ख़ुद को अलग-थलग करने की सलाह मानने से इनकार कर दिया था।

अंतिम सूचना मिलने तक भारत में कोरोना के 933 मामले सामने आ चुके हैं और 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

हालांकि दुनिया की दूसरी सबसे अधिक आबादी वाले इस देश में टेस्टिंग की दर सबसे कम होने की वजह से आधिकारिक आंकड़ों से कहीं अधिक की आशंका जताई जा रही है।

विशेषज्ञों का मानना है कि 130 करोड़ की आबादी वाले भारत में कोरोना महामारी दूसरे देशों की तरह फूट पड़ी तो एक क़यामत बरपा हो जाएगी।

कोरोना से संक्रमित बलदेव सिंह नामक शख़्स ने अपनी मौत से पहले होली और सिख त्योहार होला में भी भाग लिया था।

6 दिनों तक मनाए जाने वाले इस त्योहार में इलाक़े में हर रोज़ क़रीब 10,000 लोग भाग लेते थे।  

बलदेव सिंह की मौत के बाद, उनके परिवार के 19 सदस्यों के टेस्ट भी पॉज़िटिव निकले थे।

स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि अब तक सिंह से सीधे मुलाक़ात करने वाले 550 लोगों का पता लग चुका है और यह संख्या बढ़ती ही जा रही है। इसीलिए इस इलाक़े के 20 गांवों को सील कर दिया गया है।

इसके अलावा, राजस्थान के भीलवाड़ा ज़िले के कोरोना संक्रमित एक शख़्स का इलाज करने वाले डॉक्टरों के एक समूह पर संदेह है कि उन्होंने कई दूसरे लोगों को भी संक्रमित किया होगा।

यही वजह है कि इलाक़े के क़रीब 7,000 लोगों को कोरंटीन कर दिया गया है।

भारत सरकार ने देश में महामारी फैलने से रोकने के लिए 21 दिनों के लॉकडाउन का एलान किया है, जिसके कारण एक साथ 1.3 अरब लोग लॉकडाउन हो गए हैं, जो दुनिया में सबसे अधिक संख्या है। msm

टैग्स

कमेंट्स