Sep १८, २०२० २१:०३ Asia/Kolkata
  • एलओसी पर भारतीय सेना की फ़ायरिंग, 3 नागरिक घायल, भारतीय कूटनयिक पाकिस्तानी विदेशमंत्रालय में तलब

पाकिस्तान के विदेशमंत्रालय में भारत के वरिष्ठ कूटनयिक को तलब करके 17 सितम्बर को भारतीय सेना की ओर से नियंत्रण रेखा पर युद्ध विराम के उल्लंघन पर कड़ी आपत्ति रिकार्ड कराया गया जिसके परिणाम में तीन नागरिक घायल हो गये थे।

पाकिस्तान के विदेशमंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार एलओसी के जुन्दरूट और हाटस्प्रिंग सेक्टर में भारतीय सेना की फ़ायरिंग से 15 से 26 साल के तीन लोग घायल हो गये थे।

विदेशमंत्रालय का कहना है कि भारतीय सेना एलओसी और वर्किंग बाउंड्री में नागरिक आबादी को आर्ट्लरी फ़ायर, मार्टर्ज़ और आटोमैटिक हथियारों से निरंतर निशाना बना रही है।

बयान के अनुसार भारत ने जारी वर्ष 2 हज़ार 280 बार युद्ध विराम का उल्लंघन किया है जिसके परिणाम में 18 लोग हताहत और 183 लोग घायल हुए हैं।

विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने इन कार्यवाहियों की निंदा करते हुए कहा कि यह फ़ायरिंग खुले तौर पर 2003 के युद्ध विराम समझौते का उल्लंघन है।

उन्होंने कहा कि भारत, अंतर्राष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करते हुए एलओसी के आसपास तनाव को हवा दे रहा है जो क्षेत्र की शांति और स्थिरता के लिए ख़तरा है।

पाकिस्तान के विदेशमंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि एलओसी और वर्किंग बाउंड्री में तनाव को हवा देकर भारत कश्मीर में मानवाधिकारों के घोर हनन से दुनिया का ध्यान हटाना चाहता है।

भारत से 2003 के समझौते का सम्मान करने की मांग करते हुए विदेशमंत्रालय ने कहा कि इन घटनाओं की जांच करके एलओसी और वर्किंग बाउंड्री पर शांति स्थापित की जाए।

पाकिस्तान के विदेशमंत्रालय ने भारत पर बल दिया है कि वह संयुक्त राष्ट्र संघ के सैन्य पर्यवेक्षकों को सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के अनुसार भूमिका अदा करने की अनुमति दे। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स