Sep २७, २०२० ०८:५९ Asia/Kolkata
  • नाज़ी भी मानेंगे कि झूठ की कला का ताज भाजपा और आरएसएस को दिया जाना चाहिएः पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र संघ के मंच पर भारत और पाकिस्तान के बीच आरोप प्रत्यारोप, दावे और जवाबी दावे का क्रम जारी है। इस क्रम में अब पाकिस्तान की ओर से बयान आया है कि कश्मीर कभी भी भारत का हिस्सा न था और न ही होगा, नई दिल्ली के पास जम्मू व कश्मीर पर फ़ौजी क़ब्ज़े के अलावा दावा करने के लिए कुछ नहीं है।

पाकिस्तान के दूत ज़ुलक़रनैन चीना ने कहा कि जम्मू व कश्मीर में भारत का फ़ौजी क़ब्ज़े के अलावा कोई दूसरा दावा नहीं है वह अपना क़ब्ज़ा थोपने के लिए मज़लूम लोगों के ख़िलाफ़ ताक़त का इस्तेमाल कर रहा है।

इससे पहले राष्ट्र संघ महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कश्मीर का मुद्दा ज़ोर शोर से उठाया जिसके जवाब में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इमारान ख़ान के भाषण को झूठ, ग़लतफ़हमियों और युद्धोन्माद से भरा हुआ कहा था साथ ही भारत के राजूदत ने इमरान ख़ान के भाषण के समय बैठक से वाक आउट किया था।

पाकिस्तान के दूत ने इस बयान के जवाब में कहा कि भारत की ओर से जो कुछ कहा जा रहा है वह असली मुद्दों से ध्यान भटकाने की शर्मनाक कोशिश है मगर भारत अपने अपराधों का ख़मियाज़ा भुगतने से नहीं बच सकता।

ज़ुलक़रनैन चीना ने कहा कि पाकिस्तानी जनता, इस्लामी जगत और सारे आज़ादी पसंद लोग कश्मीर की बहादुर जनता के साथ खड़े हैं।

जनरल एसेंबली में पाकिस्तानी प्रतिनिधि ने भारत में अल्पसंख्यकों विशेष रूप से मुसलमानों पर होने वाले अत्याचार के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि नाज़ियों को अकसर झूठ बोलने और झूठा प्रोपैगंडा करने की कला में महारत रखने का सेहरा दिया जाता है मगर भारत की बातें सुनकर नाज़ियों को भी मानना पड़ेगा कि यह ताज भाजपा-आरएसएस को दिया जाना चाहिए।

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स