Mar ०४, २०२१ ०७:४८ Asia/Kolkata
  • रेप के आरोपी से शादी के बयान पर मचा हंगामा, नारीवादी व महिला समूहों ने मुख्य न्यायाधीश से मांगा इस्तीफ़ा

सीजेआई शरद अरविंद बोबड़े को एक ओपन लेटर लिख कर चार हज़ार से अधिक महिला अधिकार कार्यकर्ताओं, प्रगतिशील समूहों और नागरिकों ने सुप्रीम कोर्ट में उनके द्वारा ‘नाबालिग़ से बलात्कार के आरोपी युवक का पीड़िता से विवाह करने‘ की बात पूछने और मैरिटल रेप को सही ठहराने को लेकर उनसे पद छोड़ने की मांग की है।

पहली मार्च को एक नाबालिग़ से बलात्कार के आरोपी महाराष्ट्र के सरकारी कर्मचारी मोहित सुभाष चव्हाण की ज़मानत की अपील सुनते हुए सीजेआई बोबड़े की अगुवाई वाली पीठ ने उससे पूछा था कि क्या वह उस लड़की से शादी करना चाहता है, अगर वह उससे शादी का इच्छुक हो तो न्यायालय इस पर विचार कर सकता है अन्यथा उसकी नौकरी जाएगी और उसे जेल जाना होगा, उसने नाबालिग़ लड़की को फुसलाया और उसका बलात्कार किया।

साथ ही पीठ ने जोड़ा था कि वह शादी के लिए दबाव नहीं डाल रही है, आरोपी बताए कि क्या चाहता है, वरना उसे लगेगा कि न्यायालय उस पर शादी के लिए दबाव डाल रहा है।

इस बयान का, जो यह दर्शाता है कि अगर किसी नाबालिग़ से बलात्कार के बाद बलात्कारी उससे शादी कर ले, तो ठीक है, कड़ा विरोध हो रहा है। कार्यकर्ताओं ने अपने पत्र में लिखा है कि हम भीतर से इस बात के लिए आहत महसूस कर रहे हैं कि हम औरतों को आज हमारे मुख्य न्यायाधीश को समझाना पड़ रहा है कि आकर्षण, बलात्कार और शादी के बीच के अंतर होता है। यह बात उस मुख्य न्यायाधीश ने कही है जिस पर भारत के संविधान की व्याख्या करके लोगों न्याय दिलाने की ताक़त और ज़िम्मेदारी है।

पत्र पर दस्तख़त करने वाले लोगों ने यह भी कहा है कि बहुत हो चुका, आपके शब्द न्यायालय की गरिमा और अधिकार पर लांछन लगा रहे हैं, वहीं मुख्य न्यायाधीश के रूप में आपकी उपस्थिति देश की हर महिला के लिए एक ख़तरा है, इससे युवा लड़कियों को यह संदेश मिलता है कि उनकी गरिमा और आत्मनिर्भरता का कोई मूल्य नहीं है, मुख्य न्यायालय की ऊंचाइयों से बाकी न्यायालयों और तमाम न्याय पालिकाओं को यह संदेश जाता है कि इस देश में न्याय महिलाओं का संवैधानिक अधिकार नहीं है। इससे आप उस चुप्पी को बढ़ावा दे रहे हैं जिसको तोड़ने के लिए महिलाओं और लड़कियों ने कई दशकों तक संघर्ष किया है। (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स