May ०६, २०२१ ११:४४ Asia/Kolkata
  • कोरोना की तीसरी लहर, होगी सबसे ख़तरनाक, कब आ सकती है और निशाना कौन होगा?

भारत में कोरोना की तीसरी लहर आना बाक़ी है और इसके बहुत ही ज़्यादा ख़तरनाक होने की आशंका जतायी जा रही है।

कोरोना पैन्डेमिक की पहली लहर में जहाँ सबसे ज़्यादा बुज़ुर्ग लोग संक्रमित हुए, वहीं दूसरी लहर में कोरोना वायरस के निशाने पर युवा आबादी रही, लेकिन अब विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि अगर तीसरी लहर आई तो यह बच्चों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है।

विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर सितम्बर तक आ सकती है। बाल चिकित्सा और संक्रामक रोगों के विशेषज्ञों ने कहा है कि सरकार को बच्चों के टीकाकरण के कार्यक्रम को जल्द से जल्द शुरू करना चाहिए, वरना कोरोना की तीसरी लहर में 18 से कम उम्र वाले बच्चे बुरी तरह से प्रभावित हो सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि भले ही कोरोना वायरस वर्तमान में बच्चों में गंभीर जटिलताएं पैदा नहीं कर रहा है, लेकिन दूसरी लहर में संक्रमित बच्चों की तादाद में काफ़ी तेज़ी आई है।

कोविड की तीसरी लहर में बच्चों के कोरोना की चपेट में आने की संभावना को देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम "बीएमसी" और महाराष्ट्र सरकार मिलकर की ओर से शहर में बाल चिकित्सा कोविड देखभाल वार्ड स्थापित हो रहे हैं।

दूसरी ओर कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने भारत में तबाही मचा रखी है। पिछले दो-तीन दिनों की कमी के बाद एक बार फिर से कोरोना के नए मामलों में बड़ी उछाल देखने को मिली है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने अबतक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और एक दिन में बुधवार को 4.12 लाख से अधिक नए केस और क़रीब चार हज़ार मौतें हुई हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बुधवार को 24 घंटे में कोरोना वायरस के 4 लाख 12 हज़ार 618 नए केस सामने आए। वहीं एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 3982 लोगों की मौत के बाद, इस बीमारी से जान गंवाने वालों की तादाद 2 लाख 30 हज़ार 10 से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन नए मामलों के बाद कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2 करोड़,10 लाख 64 हज़ार 862 हो गए हैं। (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स