Jul २२, २०२१ १५:४१ Asia/Kolkata
  • तेल उद्योग के क्षेत्र में ईरान को मिली एक और सफलता, तेल निर्यात के लिए बना लिया नया रास्ता,

ईरान ने राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी के आदेश के बाद दक्षिण पूर्वी ईरान की जास्क बंदरगाह से पहली बार तेल का निर्यात शुरू कर दिया है।

जास्क बंदरगाह ओमान सागर के तट पर स्थित है, इस बंदरगाह की मदद से ईरान को यह अवसर हासिल हो गया है कि वह हुरमुज़ स्ट्रेट और फ़ार्स खाड़ी से गुज़रे बग़ैर अपना तेल अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्रों की ओर रवाना कर सकता है।

ईरान ने एक हज़ार किलोमीटर लंबी पाइपलाइन बिछाकर अपना तेल जास्क बंदरगाह तक पहुंचा दिया है।

डाक्टर रूहानी ने इस प्रोजेक्ट को एतिहासिक सफलता का नाम दिया और कहा कि यह ईरान के तेल मंत्रालय का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है क्योंकि इस परियोजना को पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों के ज़माने में पूरा किया गया है। इस परियोजना के बाद अब ईरान दक्षिणी ईरान की बूशहर बंदरगाह के साथ ही जास्क बंदरगाह से भी तेल का निर्यात कर सकेगा और रोज़ाना एक मिलियन बैरल तेल इस बंदरगाह से अंतर्राष्ट्रीय मंडियों में भेजा जा सकेगा।

डाक्टर रूहानी ने कहा कि इस परियोजना की कामयाबी ईरान के ख़िलाफ़ पश्चिम के आर्थिक युद्ध की नाकामी का सुबूत है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स