Jul २७, २०२१ २२:२४ Asia/Kolkata
  • पूरी दुनिया के काफ़िर और दुश्मन इकट्ठा हो जायें तब भी वे एक मच्छर नहीं बना सकतेः जनरल सलामी

जनरल सलामी ने कहा कि महान ईश्वर की शक्ति के सामने काफ़िर न्यूनतम मूल्य भी नहीं रखते।

ईरान की इस्लामी क्रांति संरक्षक बल सिपाहे पासदारान आईआरजीसी के कमांडर इनचीफ़ जनरल सलामी ने ईरान के विरुद्ध दुश्मनों की भड़काऊ साज़िशों को परिणामहीन बताया और कहा कि ग़लत आंकलन का कोई परिणाम नहीं निकलेगा।

उन्होंने स्वंय सेवी बल बसीज को संबोधित करते हुए कहा कि अगर आप होते तो विभिन्न कालों में पैग़म्बरे इस्लाम के पवित्र परिजनों पर जो अन्याय व अत्याचार हुए हैं वे न होते और अगर इतिहास पर नज़र डालें तो हम दुश्मनों के मुकाबले में कभी भी पराजित नहीं हुए हैं और अगर हम कमज़ोर थे तो वह हमारे ईमान की कमज़ोरी के कारण था न कि दुश्मन की शक्ति के कारण।

उन्होंने कहा कि दुश्मन विदित व ज़ाहिर में शक्तिशाली है और पवित्र कुरआन की शिक्षाओं के आधार पर अगर समस्त काफिर और दुश्मन जमा हो जायें तब भी वे एक मच्छर नहीं बना सकते और वे महान ईश्वर की शक्ति के सामने न्यूनतम मूल्य भी नहीं रखते हैं परंतु बसीज और इस्लाम की निष्ठावान सेना महान ईश्वर के निकट प्रिय है और उसका बहुत अधिक महत्व व मूल्य है।

सिपाहे पासदारान के कमांडर ने कहा कि स्वंय सेवी बल बसीज उन समस्याओं व खतरों को समाप्त करने वाले हैं जो ईरानी राष्ट्र के लिए उत्पन्न किये जाते हैं। उन्होंने कहा कि स्वंय सेवी बल बसीज का कार्य नजात देना है, हमारे पास एक शक्तिशाली सेना है हमें जहां भी देश में समस्या का सामना होता है उसके समाधान के लिए हम इस सेना का प्रयोग करते हैं और स्वंय सेवी बल समाज की समस्याओं को दूर करने वाले हैं।

सिपाहे पासदारान के कमांडर ने कहा कि दुश्मन अवसर की खोज में हैं और वे पूरी क्षमता के साथ रणक्षेत्र में आ गये ताकि हमारी अर्थ व्यवस्था को ध्वस्त कर दें और हमारे लोगों को इस्लामी व्यवस्था से अलग कर दें परंतु उनके समस्त षडयंत्र विफल हो गये और उन्हें मुंह की खानी पड़ी।

उन्होंने कहा कि हम दुश्मन की निराशा को उसकी बातों और चेहरों में देखते हैं हम हमेशा उन पर नज़र रखे हुए हैं, हम इस मुकाबले के शिखर को तय कर रहे हैं और हमने उनके बहुत से षडयंत्रों को विफल बना दिया है।

सिपाहे पासदारान के कमांडर इनचीफ़ जनरल सलामी ने कहा कि दुश्मनों ने बड़ी कोशिश की परंतु वे जितना अधिक प्रयास करते हैं उतना ही दलदल में धंसते व फंसते जाते हैं। उन्होंने सावधान करते हुए कहा कि हमारे दुश्मन बेकार नहीं बैठे हैं और इस्लामी व्यवस्था को आघात पहुंचाने के लिए वे हर अवसर व शैली का प्रयोग करेंगे।

उन्होंने कहा कि समस्त षडयंत्रों के बावजूद ईरानी राष्ट्र के दुश्मन यह समझ गये हैं कि ईरान के खिलाफ उनकी धमकी का कोई असर नहीं है और इस धमकी का उनके लिए कोई फायदा नहीं है और अगर ईरान के खिलाफ वे कोई सैन्य कार्यवाही करते हैं तो इसका उल्टा असर होगा और उन्हें पछताना पड़ेगा।

जनरल हुसैन सलामी ने कहा कि जो राष्ट्र डटकर मुकाबला करने का पक्का इरादा कर ले और दुश्मनों के मुकाबले में अपनी रक्षा करे और डट जाये तो वह विजयी है और उसे हराया नहीं जा सकता और दुश्मन जानते हैं कि ईरानी राष्ट्र को हराया नहीं जा सकता। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स