Jul २९, २०२१ १३:४२ Asia/Kolkata
  • सीरिया और प्रतिरोध के ख़िलाफ़ लड़ाई में दुश्मन ने रणनीति बदल ली है, क़ालीबाफ़

ईरान के संसद सभापति का कहना है कि आर्थिक युद्ध से मुक़ाबले के लिए मुस्लिम देशों के बीच रिश्तों का मज़बूत होना ज़रूरी है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, दमिश्क़ की अपनी यात्रा के दौरान सीरियाई विदेश मंत्री के साथ अपनी मुलाक़ात में ईरानी संसद सभापति मोहम्मद बाक़िर क़ालीबाफ़ ने कहाः सीरिया और प्रतिरोध के ख़िलाफ़ अमरीका और इस्राईल समर्थित आतंकवादियों ने एक दशक तक लड़ाई के बाद अब अपनी युद्ध की रणनीति बदल ली है। नई परिस्थितियों में हमें व्यापारियों, आर्थिक कार्यकर्ताओं और,्यकर्ताओं, उद्योगपतियों औरशक तक लड़ाई के बाद अब अपनी युद्ध की रणनीति बदल ली है। नई परिस्थितियों  उद्योगपतियों के सामने मौजूद रुकावटों को दूर करना चाहिए, ताकि व्यापारिक रिश्तों को मज़बूत करके आर्थिक युद्ध में भी जीत हासिल कर सकें।

क़ालीबाफ़ का कहना था कि ज़ायोनी अधिकारी ईरान, सीरिया और प्रतिरोधी संगठनों के ख़िलाफ़ माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं। उनके इस दुष्प्रचार को नाकाम बनाने के लिए इस्राईल विरोधी शक्तियों को एकजुट होकर काम करना चाहिए।

इस मुलाक़ात में सीरिया के विदेश मंत्री फ़ैसल मिक़दाद ने कहा कि ईरान के साथ दोस्ती की सीरिया में गहरी जड़े हैं। सभी क्षेत्रों में दोनों देशों के संबंधों में अधिक से अधिक विस्तार होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में प्रतिरोधी शक्तियां, दिन प्रतिदिन ताक़तवर हो रही हैं, ऐसी परिस्थितियों में दोनों देशों के बीच व्यापारिक लेन-देन में भी वृद्धि होनी चाहिए। msm