Aug १०, २०२१ १०:०५ Asia/Kolkata
  • ईरानी राष्ट्रपति ने फ्रांस के राष्ट्रपति को दिखाया आईना, टेलीफ़ोनी वार्ता में रईसी ने मैक्रों को सिखाया पाठ

ईरानी राष्ट्रपति सैयद इब्राहिम रईसी ने कहा है कि उनकी सरकार साझा हितों और आपसी सम्मान के आधार पर फ्रांस के साथ संबंधों के विस्तार का स्वागत करती है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति सैयद इब्राहीम रईसी ने अपने फ्रांसीसी समकक्ष, इमैनुएल मैक्रों के साथ एक टेलीफोन पर बातचीत में, उन्होंने अमेरिका और तीन यूरोपीय देशों द्वारा परमाणु समझौते के बार-बार उल्लंघन किए जाने की ओर ध्यान आकर्षित कराया। राष्ट्रपति रईसी ने कहा कि अमेरिका ने नए प्रतिबंध लगाकर परमाणु समझौते का खुला उल्लंघन किया है और यहां तक कि प्रतिबंधों का दायरा मानवीय ज़रूरतों की चीज़ों तक फैला दिया जो मानवाधिकारों का भी खुला उल्लंघन है। ईरानी राष्ट्रपति ने बल देकर कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों, दोनों को परमाणु समझौते के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं पर अमल करना चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी तरह की वार्ता में ईरानी जनता के अधिकारों और हितों की पूर्ति को सुनिश्चित किए जाने की आवश्यकता है। राष्ट्रपति रईसी ने कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान फ़ार्स की खाड़ी और ओमान सागर की सुरक्षा और रक्षा को लेकर पूरी तरह से गंभीर है और इसकी सुरक्षा को ख़तरा पहुंचाने का प्रयास करने वालों को तेहरान मुंहतोड़ जवाब देगा।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने भी इस टेलीफ़ोनी बातचीत के आरंभ में सैयद इब्राहीम रईसी को ईरान का राष्ट्रपति बनने पर मुबारकबाद पेश किया और कहा कि तेहरान और पेरिस आपसी सहयोग के ज़रिए क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को स्थापित करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने परमाणु समझौते से अमेरिका के एकपक्षीय रूप से निकलने की ओर इशारा करते हुए कहा कि हम इस मामले को हल करना चाहते हैं और उम्मीद है कि परमाणु समझौते की बहाली के लिए जल्दी ही वार्ता फिर से आरंभ होगी। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स