Sep २८, २०२१ १८:१७ Asia/Kolkata
  • ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री का भाषणा झूठ का पुलिंदाः ईरान

संयुक्त राष्ट्रंसघ में ईरान के स्थाई प्रतिनिधि ने अवैध ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री के भाषण को झूठ का पुलिंदा बताया है।

तख़्ते रवानची ने ट्वीट किया कि वह ज़ायोनी शासन जिसके पास सैकड़ों परमाणु वार हेड्स हैं, उसे ईरान के शांतिपूर्ण कार्यक्रम के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है।  उन्होंने लिखा कि राष्ट्रसंघ में ईरानोफ़ोबिया अपने चरम पर पहुंच चुका है।

ज़ायोनी प्रधानमंत्री ने राष्ट्रसंघ की सुरक्षा परिषद में भाषण देते हुए ईरान के शांतिपूर्ण परमाणु कार्यक्रम के बारे में खुलकर झूठ बोला।  ज़ायोनी प्रधानमंत्री नफ़्ताली ने दावा किया कि ईरान में परमाणु हथियारों की तैयारी उस जगह पर पहुंच चुकी है जहां से वापस आना संभव नहीं है।  नफ़्ताली के अनुसार उसने सारी ही रेड लाइन्स तोड़ दी हैं और अब उसे केवल बातों से नहीं रोका जा सकता।

अवैध ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री ने यह दावा एसी स्थिति में किया है कि स्वयं इस अवैध ज़ायोनी शासन के पास कम से कम दो सौ परमाणु वारहेड्स मौजूद हैं।  इस शासन ने अबतक किसी भी अन्तर्राष्ट्रीय संस्था को अपने परमाणु प्रतिष्ठान के निरीक्षण की अनुमति नहीं दी है।

टैग्स