Oct १३, २०२१ १२:१४ Asia/Kolkata

ईरान के चीफ़ ऑफ़ आर्मी स्टाफ़ जनरल मोहम्मद बाक़ेरी पाकिस्तान के सेना प्रमुख के आधिकारिक निमंत्रण पर एक उच्च स्तरीय सैन्य प्रतिनिधिमंडल के साथ इस्लामाबाद पहुंचे हैं।

इस्लामाबाद पहुंचने के तुरंत बाद जनरल बाक़ेरी ने अपनी तीन दिवसीय पाकिस्तान के दौरे के महत्व का उल्लेख करते हुए कहाः ... दोनों पड़ोसी देशों ईरान और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच व्यापक सहयोग जारी है, जैसे कि संयुक्त सीमाओं पर शांति व सुरक्षा की स्थापना के लिए हालिया वर्षों में महत्वपूर्ण क़दम उठाए गए हैं, जिसके बाद सीमाओं पर घटने वाले घटनाक्रम बहुत कम हो गए हैं। इसी तरह से दोनों देशों की सेनाओं के बीच ट्रेनिंग और सूचनाओं के आदान प्रदान में व्यापक सहयोग जारी है, यह यात्रा इन क्षेत्रों में सहयोग के विस्तार के उद्देश्य से की जा रही है। ख़ास तौर पर इस समय अफ़ग़ानिस्तान की ताज़ा स्थिति के मद्देनज़र कि जो दोनों ही देशों का पड़ोसी देश है और उसका दोनों देशों पर प्रभाव पड़ता है, पाकिस्तान के सेना प्रमुख के साथ विचार विमर्श की ज़रूरत थी।

ईरान के चीफ़ ऑफ़ आर्मी स्टाफ़ ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में दोनों देशों के अनुभवों के आदान-प्रदान को अपनी पाकिस्तान यात्रा का एक अन्य उद्देश्य क़रार दियाः ... दोनों देशों की सेनाओं के बीच सहयोग का एक दूसरा अहम मुद्दा आतंकवाद से मुक़ाबला है। आतंकवाद से मुक़ाबले के लिए दोनों देशों के बीच ट्रेनिंग पर काफ़ी काम हो चुका है और इस यात्रा में इस पर अधिक चर्चा की जाएगी, आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई के अनुभवों का आदान-प्रदान और इसी प्रकार आतंकवाद से मुक़ाबले में सूचनाओं का आदान-प्रदान जैसे मुद्दों पर इस यात्रा में अधिक विचार-विमर्श किया जाएगा।

पिछले तीन वर्षों में यह ईरान के चीफ़ ऑफ़ आर्मी स्टाफ़ का पाकिस्तान का दूसरा दौरा है। रक्षा कूटनीति के क्षेत्र में सहयोग में विस्तार पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों और राजनेताओं के साथ  जनरल बाक़ेरी की मुलाक़ातों में अहम मुद्दा रहेगा।

पैमान रहमानी, आईआरआईबी, इस्लामाबाद

टैग्स