Oct १४, २०२१ १४:११ Asia/Kolkata
  • इस्राईल की धमकियों के बाद ईरान ने सुरक्षा परिषद के प्रमुख को लिखा ख़त...

संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरान के स्थाई राजदूत ने सुरक्षा परिषद के प्रमुख को पत्र लिखकर देश के परमाणु प्रतिष्ठानों पर इस्राईल के संभावित हमलों की बाबत सचेत किया है।

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार मजीद तख़्त रवान्ची ने यह पत्र बुधवार को ज़ायोनी शासन की ओर से ख़तरे के जवाब में सुरक्षा परिषद के प्रमुख को लिखा। इस पत्र में आया है कि पिछले कुछ महीनों से इस्राईल की भड़काऊ कार्यवाहियां निरंतर जारी रही हैं और ख़तरनाक स्तर तक पहुंच गयी हैं जिसका ताज़ा उदाहरण इस शासन के चीफ़ आफ़ स्टाफ़ की ओर से दी गयी धमकी है।

ज्ञात रहे कि इस्राईल के चीफ़ आफ़ आर्मी स्टाफ़ ने धमकी है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम के ख़िलाफ़ आप्रेश्नल योजनाओं का दायरा बढ़ रहा है और ईरान की परमाण क्षमताओं को विभिन्न मैदानों में किसी भी समय ख़त्म करने के लिए आप्रेशन जारी रहेगा।

संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरान के स्थाई राजदूत ने कहा कि हमने सुरक्षा परिषद में इस्राईल की पहली वाली धमकियों के ख़िलाफ़ अपनी आपत्तियां 1 फ़रवरी, 12 अप्रैल और 14 सितम्बर के पत्रों में दर्ज कराई हैं।

उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ के संस्थापक देशों में से एक देश के ख़िलाफ़ ज़ायोनी शासन की खुली हुई धमकियां, अंतर्राष्ट्रीय नियमों विशेषकर संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर की धारा 2 का खुला उल्लंघन है।

इस पत्र में आया है कि इस वास्तविकता के दृष्टिगत कि ईरान की क्षमताओं को ख़त्म करने के लिए इस्राईल निरंतर कोशिशें कर रहा है, इसीलिए निसंदेह अतीत में हमारे शांतिपूर्ण परमाणु कार्यक्रमों के ख़िलाफ़ आतंकी हमले के लिए इस्राईल की ज़िम्मेदार है।

संयुक्त राष्ट्र संघ में ईरान के स्थाई राजदूत ने अपने पत्र में कहा कि क्षेत्र में में अस्थिरता पैदा करने वाले ज़ायोनी शासन की गतिविधियों के अतीत के रिकार्ड और ईरान के परमाणु कार्यक्रम के ख़िलाफ ख़ुफ़िया आप्रेशन के दृष्टिगत, इस शासन की धमकियों और रुकावटें पैदा करने वाले रवैये की रोकथाम बहुत ही ज़रूरी है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स