Oct २२, २०२१ ०८:५८ Asia/Kolkata
  • ईरान में जारी युद्ध अभ्यास से दुनिया हैरान दुश्मन परेशान, अपने मुख्य चरण में पहुंचा “फ़िदायाने हरीमे विलायत” नामक सैन्य अभ्यास

इस्लामी गणतंत्र ईरान में फ़िदायाने हरीमे विलायत सैन्य अभ्यास अब अपने मुख्य चरण में पहुंच चुका है। ईरानी सेना के इस आधुनिक सैन्य अभ्यास ने जहां दुनिया को हैरान कर दिया है वहीं दुश्मन ईरान के सैन्य बलों की बढ़ती ताक़त को देखकर परेशान नज़र आ रहे हैं।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, फ़िदायाने हरीमे विलायत नामक हवाई सैन्य अभ्यास का मुख्य और ऑपरेशनल चरण मोहम्मद रसूलुल्लाह के कोड वर्ड के साथ शुरू हुआ। इस युद्ध अभ्यास के ऑपरेशनल चरण के उद्घाटन समारोह में ईरानी सेना के कमांडर जनरल सैयद अब्दुल रहीम मूसवी, इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के कार्यालय के प्रमुख, ईरानी सशस्त्र बलों के उप प्रमुख, ख़ातिमुल अंबिया मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी और अन्य वरिष्ठ सैन्य कमांडरों ने भाग लिया। फ़िदायाने हरीम विलायत युद्धाभ्यास के ऑपरेशनल चरण के प्रारंभिक चरण में, ईरानी वायु सेना के लड़ाकू विमानों और ड्रोन ने विभिन्न प्रकार के युद्ध और रक्षा अभियानों को अंजाम दिया। ईरानी सेना की वायु सेना के कमांडर, ब्रिगेडियर जनरल हमीद वाहीदी ने बताया कि युद्ध अभ्यास में विभिन्न प्रकार के अत्याधुनिक स्वदेशी हथियारों का इस्तेमाल किया गया था। इसमें विभिन्न वज़न के स्मार्ट बम, लेज़र और अन्य आधुनिक मिसाइलें, सभी प्रकार के रॉकेट और उन्नत रक्षा प्रणालियां शामिल थीं।

फ़िदायाने हरीमे विलायत युद्ध अभ्यास के ऑपरेशनल चरण में विभिन्न प्रकार के लड़ाकू और बमवर्षक विमान, हल्के और भारी सैन्य विमान और अत्याधुनिक जासूसी विमान, दुश्मन के युद्धक विमानों का पीछा करने और ईंधन की आपूर्ति करने वाले आधुनिक विमान भाग ले रहे हैं। दुश्मन की संभावित हमलों को रोकने के लिए मज़बूत रक्षा और युद्ध की ताक़त सबसे महत्वपूर्ण चीज़ होती है। फ़िदायाने हरीमे विलयत युद्ध अभ्यास का वर्तमान चरण यह साबित करने के लिए आयोजित किया जा रहा है कि ईरान के पास ऐसा युद्ध और रक्षा बल है कि वह दुश्मन द्वारा किसी भी तरह के हमले का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है। एयरोस्पेस, मिसाइल और नौसेना के साथ-साथ ज़मीनी सैन्य क्षेत्रों में ईरान बहुत मज़बूत और स्थिर स्थिति में है।

युद्ध अभ्यास की वीडियो देखेंः https://parstoday.com/hi/news/iran-i104732

ईरान ने अपने रक्षा और युद्ध कौशल को बढ़ाने के लिए अपनी आंतरिक क्षमताओं और देश की कुशल जनशक्ति का उपयोग किया है और ख़ुद को अत्याधुनिक युद्ध और रक्षा संसाधनों से लैस किया है। आज ईरान के पास एयरोस्पेस, मिसाइल पावर, नौसैनिक और ज़मीनी युद्ध के क्षेत्र में सर्वोच्च क्षमताएं हैं। इसी तरह  वर्तमान युद्ध अभ्यास में इलेक्ट्रानिक वॉर फियर, स्मार्ट युद्ध उपकरण, क्रूज़ मिसाइल और बहुत ही तेज़ रफ़्तार से हमला करने वाले लड़ाकू जेट विमानों और ड्रोनों का उपयोग किया जा रहा है। विशेष कौशल युद्ध अभ्यास आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य दुश्मन के ख़तरों और संभावित हमलों का सामना करने के लिए ईरान की युद्ध और रक्षा क्षमताओं को उजागर करना है। लेकिन ईरान की युद्ध और रक्षा ऊर्जा क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए बिल्कुल ख़तरा नहीं है। क्योंकि क्षेत्र के संबंध में इस्लामी गणतंत्र ईरान की नीति युद्ध और तनाव से बचने और क्षेत्रीय देशों को क्षेत्र के भीतर सामूहिक सुरक्षा के संरक्षण में भाग लेने के लिए आमंत्रित करने पर आधारित है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स