Nov २६, २०२१ १५:१० Asia/Kolkata

वियेना में ईरान के प्रभारी राजदूत ने आईएईए के बोर्ड आफ़ गवर्नर्ज़ की मीटिंग में ज़ोर देकर कहा कि जब तक ईरान पर लगे प्रतिबंध हटा नहीं लिए जाते उस समय तक ईरान से अधिक संयम रखने की आशा लगाना तर्कसंगत नहीं है।.

...प्रभारी राजदूत ग़ायबी का कहना था कि बैठक में ईरान की ओर से इस बात की आलोचना की गई कि यरोपीय संघ ने और विशेष रूप से तीन यूरोपीय देशों ने परमाणु समझौते के संदर्भ में प्रतिबद्धताओं पर अमल नहीं किया, अमरीका इस समझौते से निकला तो चुप्पी साधे रखी और अमरीका ने पाबंदियां कड़ी कीं तब भी उन्होंने कुछ नहीं किया कोई प्रभावी क़दम नहीं उठाया। ग़ायबी का कहना है कि अन्य देशों से ईरान की जो वार्ताएं हुई हैं उनसे यह पता चला है कि बोर्ड आफ़ गवर्नर्ज़ की बैठक में कोई प्रस्ताव पेश नहीं किया जाएगा।

....वियेना में जिन देशों के दूतावास हैं उनसे हमारी बातचीत हुई है इसी तरह आईएईए के प्रमुख से तेहरान में जो वार्ता हुई उसमें साफ़ साफ़ हमने कह दिया है कि अगर किसी भी देश ने ख़ास तौर पर पश्चिमी देशों ने जल्दबाज़ी में बे सोचे समझे कोई क़दम उठाया गया तो निश्चित रूप से उसका नकारात्मक असर अगले हफ़्ते की वार्ता पर पड़ेगा।

ईरान ने बोर्ड आफ़ गवर्नर्ज़ की बैठक में साफ़ शब्दों में कह दिया है कि अगले हफ़्ते वियेना में होने जा रही वार्ता अन्य देशों के लिए एक मौक़ा है जिसमें वह अपनी प्रतिबद्धताओं पर अमल करने के बारे में अपनी सच्ची नीयत का परिचय दे सकते हैं। ईरान के प्रतिनिधि ने बोर्ड आफ़ गवर्नर्ज़ की बैठक में कहा कि तकनीकी सहयोग और आईएईए से ईरान का सहयोग इसी तरह जारी रहेगा। वियेना से आईआरआईबी के लिए काज़ेमी की रिपोर्ट  

 

टैग्स