Dec ०१, २०२१ १८:२९ Asia/Kolkata

…सीरिया पर आतंकियों के हमले को नाकाम बना देने के दो साल बाद अब सीरिया और इस्लामी गणतंत्र ईरान के बीच जो सीरिया का रणनैतिक साझीदार है व्यापारिक सहयोग के लिए हालात अनुकूल हो गए हैं।

इन दिनों दोनों देशों के अधिकारी एक दूसरे का दौरा कर रहे हैं और आर्थिक गतिविधियों के लिए प्रयास तेज़ हो गए हैं। ईरान और सीरिया के संयुक्त आर्थिक आयोग की ओर से जो सम्मेलन और बैठकें करवाई जा रही हैं उनके नतीजे में देखने में आ रहा है कि आपसी सहयोग में तेज़ी से वृद्धि हो रही है। 2011 में ईरान और सीरिया के बीच हस्ताक्षरित समझौते के आधार पर यह रास्ता खुल गया है कि कस्टम की पेजीदिगियों से बचते हुए दोनों देश आर्थिक गतिविधियों को विस्तार दें।

....इस विभाग से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दोनों देशों के बीच आज़ाद व्यापार का क़ानून बन चुका है। इसके आधार पर दोनों देशों ने एक दूसरे के उत्पादों के लिए कस्टम ड्यूटी बहुत घटा दी। इस पर सही प्रकार से अमल होना चाहिए इसे लागू किया जाना चाहिए। आज ईरान से 2905 प्रकार के उत्पाद सीरिया को निर्यात किए जाते हैं। इस क्षेत्र में निवेश की ज़रूरत है। ईरानी व्यापारिकों को इन क्षमताओं से फ़ायदा उठाना चाहिए। हमारी खाद्य इंडस्ट्री, इंजीनियरिंग इंडस्ट्री और टेक्सटाइल इंडस्ट्री सीरिया में कामयाब रही है।......इस समय सीरिया का पुनरनिर्माण चल रहा है और इस देश को कच्चे माल की बहुत ज़रूरत है। क्योंकि सीरिया को जंग की वजह से बड़ा नुक़सान पहुंचा है। अध्ययनों से पता चला है कि सीरियाई निजी सेक्टर ईरान के उत्पादों में खास दिलचस्पी ले रहा है।

क्योंकि ईरान के उत्पादों की क्वालिटी भी अच्छी है और पूर्वी एशिया से लाए जाने वाले उत्पाद की तुलना में ईरानी उत्पाद काफ़ी सस्ता है।.....सीरिया के अधिकारी का कहना था कि सीरिया को कृषि और उद्योगों के लिए कच्चे माल की काफ़ी ज़रूरत है। पीवीसी और प्रोपोलीन जैसी सामग्रियों को सीरिया ईरान से ख़रीद रहा है। यह चीज़ें समुद्री रास्ते से भी और ज़मीनी रास्ते से भी ईरान से सीरियाई लाई जा सकतमी हैं। हम चाहते हैं कि ईरान और सीरिया दोनों ही मिलकर इराक़ का रास्ता पूरी तरह खोल दें ताकि सीरिया अपनी ज़रूरत की चीज़ें इस रास्ते मंगवा सके।

एलेप्पो से आईआरआईबी के लिए इलहाम आबिद की रिपोर्ट

टैग्स