Dec ०६, २०२१ १९:४१ Asia/Kolkata
  • यूएई के वरिष्ठ अधिकारी का तेहरान दौरा, तेहरान का बयान, बाहरी देश, आपसी संबंधों को ख़राब कर न दे, होशियारी की ज़रूरत...

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शमख़ानी ने कहा है कि क्षेत्रीय देशों के बीच सहयोग के परिणाम में ही क्षेत्र में शांति और स्थिरता की स्थापना हो सकती है।

ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने सोमवार को तेहरान में संयुक्त अरब इमारात के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शैख़ तहनून बिन ज़ाएद से मुलाक़ात में कहा कि क्षेत्र के विभिन्न देशों के बीच निरंतर वार्ताएं और परस्पर सहयोग से ही क्षेत्र में शांति और स्थिरता की स्थापना हो सकती है।

उन्होंने कहा कि पड़ोसी देशों के साथ अच्छे और मैत्रीपूर्ण संबंध, आर्थिक, व्यापारिक, और पूंजीविनेश सहित विभिहन्न क्षेत्रों में पायी जाने वाली क्षमताओं और संभावनाओं के बारे में विचार विमर्श करनो को ईरान की विदेश नीति में प्राथमिकता हासिल है।

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव  ने कहा कि आवश्यकता इस बात की है कि इस बात के महत्व पर विशेष ध्यान दिया जाए कि किसी ग़ैर क्षेत्रीय और हस्तक्षेप करने वाले देश के हस्तक्षेप से क्षेत्र के देशों के बीच संबंधों पर कोई नकारात्मक प्रभाव न पड़े।

 

उन्होंने कहा कि फ़ार्स की खाड़ी के क्षेत्रीय देश अपने परस्पर सहयोग और संयुक्त कार्यवाहियों की बदौलत इस क्षेत्र के राष्ट्रों के लिए विकास और प्रगति का कारण बनने के साथ साथ क्षमता के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं।

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शमख़ानी ने संयुक्त प्रयासों से सैन्य और सुरक्षा संकटों को समाप्त किए जाने की आवश्यकता पर भी बल दिया कि जिन की वजह से क्षेत्र के मुस्लिम राष्ट्र आर्थिक और जीवनयापन की दृष्टि से कठिन हालात का सामना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मतभेद को ख़त्म करने के लिए सामरिक तरीक़े और धौंस धमकियों के बजाए भेंटवार्ता और सहमति का रास्ता अपनाया जाए।

 

इस मुलाक़ात में संयुक्त अरब इमारात के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शैख़ तहनून बिन ज़ाएद ने भी इस बात का उल्लेख करते हुए कि क्षेत्र में एक बड़े देश और अद्वितीय भौगोलिक स्थिति तथा पूरब और पश्चिम के बीच पुल की भूमिका रखने वाला देश ईरान अपना एक विशेष स्थान रखता है और तेहरान तथा अबूधाबी के बीच अच्छे और मैत्रीपूर्ण संबंधों को विस्तृत करना संयुक्त अरब इमारात की प्राथमिकताओं में सर्वोपरि है।  

उन्होंने दोनों देशों के बीच ट्रांज़िट, ऊर्जा, परिवहन और स्वास्थ्य तथा पूंजीनिवेश के क्षेत्रों में क्षमताओं और संभावनाओं को महत्वपूर्ण क़रार देते हुए कहा कि विशेषज्ञों के ग्रुप बनाकर विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों में संयुक्त प्रयासों द्वारा इस संबंध में पायी जाने वाली रुकावटों को दूर किया जा सकता है।

 

ज्ञात रहे कि संयुक्त अरब इमारात के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शैख़ तहनून बिन ज़ाएद, ईरान के दौरे पर सोमवार को तेहरान पहुंचे। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स