Dec ०६, २०२१ २०:२० Asia/Kolkata
  • ईरान ने बताया किस तरह जनरल सुलैमानी ने दाइश के बढ़ते क़दम रोके और क्षेत्र को शांति का उपहार दिया...

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री का कहना है कि वार्ता में ईरान की मांग, जेसीपीओए से बढ़कर नहीं है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने अपने सीरियाई समकक्ष फ़ैसल मेक़दाद के साथ तेहरान में संयुक्त प्रेस कांफ़्रेंस में कहा कि ईरानी प्रतिनिधिमंडल ने सामने वाले पक्ष को जो लिखित विषय वस्तु दी है वह पूरी तरह से संयुक्त समग्र कार्य योजना जेसीपीओ की परिधि में है और कोई भी चीज़ परमाणु समझौते में वर्णित समझौते से बाहर की नहीं है।

 

विदेशमंत्री ने दोनों देशों के संबंधों को रणनैतिक और अच्छा क़रार दिया और पवित्र रौज़े की रक्षा करने वाले शहीदों के बलिदानों और उनकी क़ुरबानियों की सराहना की।

विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने कहा कि हम उन ईरानी शहीदों को जिन्होंने सीरियाई सेना के साथ मिलकर आतंकवाद से संघर्ष और क्षेत्र में सुरक्षा की स्थापना में भूमिका अदा की विशेषकर जनरल क़ासिम सुलैमानी को जिन्होंने क्षेत्र में मुख्य भूमिका अदा की, श्रद्धांजलि पेश करते हैं।

 

उन्होंने सीरिया में ईरान की प्रदर्शनी के आयोजन की ओर संकेत करते हुए कहा कि सीरियाई विदेशमंत्री की तेहरान यात्रा ऐसे समय में हो रही है कि जब सीरिया में ईरान की सबसे बड़ी प्रदर्शनी लगी हुई है।

विदेशमंत्री ने यह बयान करते हुए कि ईरान, सीरिया में मौजूद उन विदेशी सैनिकों की उपस्थिति का विरोध करता है जो सीरिया की सरकार और जनता की इजाज़त के बिना मौजूद हैं, कहा कि हम इस उपस्थिति को क्षेत्र की शांति, सुरक्षा और स्थिरता के हित में नहीं समझते।

 

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने सीरिया के बारे में कुछ पश्चिमी और अरब देशों की विदेश नीतियों में पुनर्विचार करने और दमिश्क़ में अपने दूतावास को पुनः खोलने पर प्रसन्नता व्यक्त की।

 

उन्होंने सीरिया पर इस्राईल के आए दिन के हमलों के बारे में कहा कि ग़ैर क़ानूनी आतंकवादी ज़ायोनी शासन, पश्चिमी एशियाई क्षेत्र में अशांति की जड़ है और इसमें कोई संदेह नहीं है कि सीरिया कभी भी देश की रक्षा और अपनी धरती की सुरक्षा में में प्रतिरोध से न तो पीछे हटा है और न कभी हटेगा।

 

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने कहा कि इस्राईल के साथ सांठगांठ, क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के हित में नहीं है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स