Dec ०७, २०२१ १९:०२ Asia/Kolkata
  • सीरिया में अमरीका और इस्राईल खेल रहे हैं डर्टी गेम, तेहरान और दमिश्क़ ने किया ख़बरदार

इस्लामी गणतंत्र ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने कहा है कि इराक़ और सीरिया में आतंकवादी गुट दाइश के पतन और प्रतिरोध के मोर्चे की सफलताओं के बाद अमरीका क्षेत्र में नये नये संकट और अशांति पैदा करने का प्रयास कर रहा है।  

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव एडमिरल अली शमख़ानी ने तेहरान में सीरिया के विदेशमंत्री फ़ैसल मेक़दाद से मुलाक़ात में क्षेत्र की स्थिति पर विस्तार से रोशनी डाली।

उन्होंने सीरिया में सुरक्षा संकट पैदा किए जाने को अमरीकी और ज़ायोनी साज़िश क़रार दिया और इसके ख़तरनाक परमणाम पर सचेत करते हुए कहा कि अमरीकी-ज़ायोनी साज़िश से पूरे क्षेत्र की सुरक्षा पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं।

 

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने सीरिया पर इस्राईल के निरंतर हमलों की निंदा करते हुए उसे लेबनान और फ़िलिस्तीन पर जारी इस अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन के हमलों का क्रम ही क़रार दिया।

इस मुलाक़ात में सीरिया के विदेशमंत्री फ़ैसल मेक़दाद ने भी सीरिया की सरकार और जनता के लिए ईरान के व्यापक समर्थन की सराहना करते हुए सीरिया मं अमरीका की ग़ैर क़ानूनी उपस्थिति को अपने देश की अखंडता और संप्रभुता के विरुद्ध क़रार दिया।

 

इससे पहले सीरिया के विदेशमंत्री फ़ैसल मेक़दाद ने सोमवार की रात राष्ट्रपति सैयद इब्राहीम रईसी से मुलाक़ात की।

इस मुलाक़ात में राष्ट्रपति ने कहा कि इस समय सीरिया, अतिग्रहणकारी ज़ायोनी शासन के मुक़ाबले में फ़्रंट लाइन पर है।

इस मुलाक़ात में सीरिया के विदेशमंत्री ने भी कहा कि शहीद जनरल क़ासिम सुलैमान का ख़ून, दोनों देशों के राष्ट्रों के संबंधों के गहरे बंधन की गैरेंटी है।  

उन्होंने कहा कि हमारा ख़याल है कि शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी सबके हैं और हम शहीदों के बलिदानों को कभी भी नहीं भूल सकते।

सीरिया के विदेशमंत्री फ़ैसल मेक़दाद ने कहा कि सीरियाई राष्ट्र के प्रतिरोध की वजह से अमरीका और इस्राईल तथा क्षेत्र में उनके एजेन्टों की योजनाएं विफल हो जाएंगी और उनकी नापाक साज़िशों पर पानी फिर जाएगा। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स