Jan ०५, २०२२ ००:३१ Asia/Kolkata
  • वार्ता की सबसे बड़ी बाधा अमरीकी प्रतिबंध हैंः ओलयानोफ

रूस के प्रतिनिधि मीख़ाइल ओलयानोफ़ ने बताया है कि अमरीकी प्रतिबंध अब भी वियना वार्ता मे सबसे बड़ी रुकवाट बने हुए हैं।

संयुक्त राष्ट्रसंघ में रूस के स्थाई प्रतिनिधि ने अलअरबिया को दिये साक्षात्कार में वियना में जारी वार्ता में ईरान से अमरीकी प्रतिबंधों को हटाए जाने पर ध्यान केन्द्रित होना चाहिए।  उन्होंने कहा कि वार्ता की सबसे बड़ी बाधा अब भी यही मुद्दा बना हुआ है।

ओलयानोफ़ ने कहा कि यह बहुत ही आशचर्य की बात है कि यूरोपीय पक्ष, वार्ता में ईरान के गंभीर होने के बारे में शक कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि वास्तव में यह शक नहीं बल्कि उनकी भ्रांति है।

रूसी प्रतिनिधि का कहना था कि वार्ता आसान नहीं है किंतु चल रही है।  वार्ताकारों ने नए साल की छुट्टियों के बाद सोमवार को वार्ता के नए चरण की शुरूआत की है।

इससे पहले वाले चरण में ईरान की वार्ताकार टीम ने बता दिया था कि वे समय नष्ट करना नहीं चाहते हैं।  उनका कहना है कि जैसे ही अमरीका, ईरान पर लगाए गए प्रतिबंधों को हटाएगा तो तेहरान भी जेसीपीओए के परिप्रेक्ष्य में अपने वचनों पर पालन करन शुरू कर देगा।

विडंबना यह है कि इन संवेदनशील हालात में भी अमरीका ने ईरान के विरुद्ध नए प्रतिबंध लगा दिये जिसपर ईरानी अ

धिकारियों की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई।  इस संबन्ध में ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद ख़तीबज़ादे ने कहा कि वाशिग्टन इस बात को समझने में अक्षम दिखाई दे रहा है कि अधिकतम दबाव की नीति विफल रही है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स