Jan २१, २०२२ १०:५३ Asia/Kolkata
  • जनरल सुलैमानी का संबंध केवल ईरान से नहीं था, उनके हत्यारों पर मुक़द्दमा चलाया जाना चाहियेः राष्ट्रपति रईसी

राष्ट्रपति रईसी ने सिपाहे पासदारान के कमांडर जनरल सुलैमानी के हत्यारों पर एक बार फिर मुकद्दमा चलाये जाने पर बल दिया है।

राष्ट्रपति सैयद इब्राहीम रईसी ने रशाटूडे के साथ विशेष साक्षात्कार में कहा है कि जनरल क़ासिम सुलैमानी का संबंध केवल ईरान के लोगों से नहीं था उनका संबंध मुसलमान समाज से था। उन्होंने कहा कि अलबत्ता मुसलमान और ग़ैर मुसलमान दोनों उनका बहुत अधिक आदर-सम्मान करते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि जनरल कासिम सुलैमानी ने लोगों को मानवता के दुश्मन यानी आतंकवादी गुट दाइश से मुक्ति दिलाई है।

राष्ट्रपति ने बल देकर कहा कि इराक और सीरिया में जनरल कासिम की उपस्थिति का उद्देश्य आतंकवाद से मुकाबला था वे इंसानों को मुक्ति दिलाने के लिए वहां गये थे यह बात पूरी दुनिया जानती है। इस आधार पर जनरल कासिम सुलैमानी आतंकवाद से मुकाबले के महानायक हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि जो लोग इस प्रकार का बड़ा अपराध अंजाम देते हैं और उसे स्वीकार करते हैं निश्चित रूप से अदालत में उन पर मुकद्दमा चलाया जाना चाहिये। इसी प्रकार उन्होंने कहा कि मज़लूम की रक्षा और ज़ालिम व अत्याचारी को दंडित करने का वादा सच्चा है और यह होकर रहेगा।

राष्ट्रपति रईसी ने अपने साक्षात्कार के एक अन्य भाग में वियना में होने वाली परमाणु वार्ता के बारे में कहा कि ईरान इन वार्ताओं में बहुत गम्भीर है और अमेरिका द्वारा अपने वचनों पर अमल न करना परमाणु समझौते के क्रियान्वयन के मार्ग की रुकावट है।

उन्होंने कहा कि अब तक हम जिस चीज़ के साक्षी थे वह अमेरिका की ओर से परमाणु समझौते पर अमल न करना। अमेरिका ने खुल्लम- खुल्ला इस समझौते का उल्लंघन किया है। राष्ट्रपति ने कहा कि वियना वार्ता में भाग लेने वाले तीन यूरोपीय देशों ने भी परमाणु समझौते में अपने वचनों पर अमल नहीं किया है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स