Jan २३, २०२२ १७:१७ Asia/Kolkata
  • हज़रत फ़ातिमा एक बेहतरीन आदर्श हैं, वरिष्ठ नेता

ईरान की इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने अहले-बैत (अ) के प्रशंसक कवियों और वक्ताओं के साथ मुलाक़ात में उनसे मीडिया वार में अपनी भूमिका को पहचानने और उसे निभाने का आहवान किया है।

वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के कार्यालय की रिपोर्ट के मुताबिक़, रविवार को हज़रत फ़ातिमा ज़हरा (स) के शुभ जन्म दिवस के अवसर पर वक्ताओं और कवियों के एक समूह से मुलाक़ात में उन्होंने कहाः हज़रत फ़ातिमा की विशिष्टताओं में पवित्रता, ईश्वर के लिए समर्पण, जन सेवा और मुबाहेला की घटना में उनकी विशेष भूमिका को उदाहरण के रूप में पेश किया जा सकता है। इन विशिष्टताओं का क़ुराने मजीद में उल्लेख किया गया है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता का कहना था कि ईश्वर की कृपा से इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद, ईरानी समाज फ़ातेमी रूप में ढल गया और पिछले 43 वर्षों के दौरान, हमने पवित्र रक्षा और शहीद फ़ख़री ज़ादे और काज़ेमी आश्तियानी जैसे परमाणु वैज्ञानिक शहीदों की सेवा और बाढ़ और भूंकप के दौरान इसका जलवा देखा है।

उन्होंने कहा कि हज़रत फ़ातिमा को हर क्षेत्र में विशेष रूप से सामाजिक और क्रांति के क्षेत्रों में आदर्श माना जाना चाहिए।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता का कहना था कि ऐसी स्थिति में कि जब दुशअमन लोगों पर आर्थिक दबाव बना रहा है, ताकि उन्हें इस्लामी व्यवस्था के ख़िलाफ़ खड़ा कर दे, समाज सेवा करना मूल्यवान जिहाद है।

उनका कहना था कि इस्लामी राष्ट्र के ख़िलाफ़ दुश्मनों के व्यापक प्रोपैगंडे का मुक़ाबला किया जाना चाहिए और धार्मिक संगठनों को ख़ुद से सवाल करना चाहिए कि सत्य और असत्य की जंग में वे कहां खड़े हैं और उन्हें किस तरह से क्रांति के मूल्यों और सिद्धांतों का विस्तार करना है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता का कहना था कि कवि और वक्ता वास्तव में मीडिया वार में इस्लामी क्रांति की एक आवाज़ हैं और यह आवाज़ आज भी दुश्मन की साज़िशों पर पानी फेरने में काफ़ी प्रबल और प्रभावी है। msm