Aug ०८, २०२२ १६:५५ Asia/Kolkata
  • जायोनी केवल शक्ति की भाषा समझते हैं

विदेशमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने कहा है कि जायोनी केवल शक्ति की भाषा समझते हैं।

हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान ने ग़ज़्ज़ा पट्टी पर जायोनी शासन के हालिया अतिक्रमण के बाद इंस्टाग्राम पर लिखा है कि ईरान, जायोनी शासन के हमलों व अपराधों की भर्त्सना के साथ पड़ोसियों और अपने घटकों के साथ विचार- विमर्श कर रही है।

साथ उन्होंने कहा कि वह जायोनी शासन के अपराधों की दिशा में बाधा बनने वाले सक्रिय प्रतिरोध का समर्थन करेगा। विदेशमंत्री ने कहा कि एक वह समय था जब जायोनी नील से फुरात तक के क्षेत्रों पर कब्ज़ा करने का स्वप्न देखते थे और अब वह अपने ही द्वारा बनाई गयी दीवार में पूरी तरह अलग थलग पड़ गये हैं और यद्यपि वे अवैध अधिकृत क्षेत्रों के संकटों पर पर्दा डालने के लिए फिलिस्तीन की महिलाओं और बच्चों पर हमला करते हैं और हर बार उन्हें मुंह की खानी पड़ती है और पहले से अधिक ज़लील होने के बाद वे अपने आसपास दीवार का निर्माण जारी रखते हैं।

विदेशमंत्री ने गज्जा पट्टी पर जायोनी शासन के हमलों के बाद कतर, सीरिया और राष्ट्रसंघ के महासचिव से इस संबंध में टेलीफोनी वार्ता की है। विदेशमंत्री ने इसी प्रकार इस्लामी देशों के विदेशमंत्रियों और राष्ट्रसंघ के महासचिव और गुट निरपेक्ष आंदोलन के प्रमुख के नाम अलग- अलग पत्र भेजकर गज्जा पट्टी की में होने वाली घटनाओं पर गहरी चिंता जताई है।

जायोनी शासन के पाश्विक हमलों में अब तक जेहादे इस्लामी के दो कमांडरों सहित 41 फिलिस्तीन शहीद हो चुके हैं। इसी बीच जेहादे इस्लामी आंदोलन ने घोषणा की है कि युद्ध विराम के संबंध में मिस्र में एक समझौता हो गया है जिस पर अमल शुरु हो गया। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

 

टैग्स