Sep २२, २०२२ १६:०८ Asia/Kolkata

ईरान के चीफ़ आफ़ आर्मी स्टाफ़ जनरल मोहम्मद बाक़री का कहना है कि ईरान, रूस और चीन संयुक्त सैन्य अभ्यास करने वाले हैं।

गुरुवार को ईरान में पवित्र प्रतिरक्षा सप्ताह की शुरूआत के अवसर पर जनरल बाक़री ने बताया कि इसी साल पतझड़ के मौसम में ईरान, रूस और चीन की सेनाएं हिंद महासागर में एक संयुक्त सैन्य अभ्यान में भाग लेंगी।

ईरानी जनरल का कहना था कि संभवतः इस सैन्य अभ्यास में पाकिस्तान, ओमान और कुछ अन्य देशों के सैनिक भी भाग ले सकते हैं।

ईरान में पवित्र प्रतिरक्षा सप्ताह के अवसर पर देश भर में सैन्य परेडों का आयोजन किया जा रहा है। मुख्य सैन्य परेड का आयोजन इस्लामी क्रांति के संस्थापक इमाम ख़ुमैनी के मक़बरे के निकट किया गया, जहां ईरानी सशस्त्र बलों ने सतह से सतह पर मार करने वाले रिज़वान मिसाइल का अनावरण भी किया।

रिज़वान तरल-ईंधन से संचालित होने वाला मिसाइल है, जिसमें एक अलग होने योग्य वारहेड लगा होता है। इस मिसाइल की रेंज 1,400 किलोमीटर तक है।

इसे कई तरह के फ़िक्स और मोबाइल प्लेटफॉर्मों से लॉन्च किया जा सकता है। परेड के दौरान, ख़ैबर शिकन नामक एक मिसाइल प्रणाली को भी प्रदर्शित किया गया। msm

टैग्स