Sep २४, २०२२ १६:३४ Asia/Kolkata
  • ईरान की शांति को भंग करने में कुछ यूरोपीय दूतावास लिप्त रहेः वहीदी

ईरान के गृहमंत्री ने कहा है कि कुछ यूरोपीय दूतावास ईरान में शांति एवं सुरक्षा को ख़राब करने के प्रयास कर रहे हैं। 

अहमद वहीदी ने बताया कि उन्होंने "महसा अमीनी" की मौत के विषय को लोगों को उकसाने के लिए प्रयोग किया।

गृहमंत्री ने टेलिविज़न पर बोलते हुए महसा अमरीकी की मौत के बाद होने वाले उपद्रव के बारे में कहा कि इस उपद्रव में सुनियोजित ढंग से काम करने वाले लोग मौजूद थे।  वे आग लगा रहे थे, तोड़फोड़ कर रहे थे और इसी प्रकार से विधवंसकारी कार्यवाहियां कर रहे थे।  यह सारी बातें उनकी कार्यवाहियों के सुनियोजित होने को दर्शाती हैं।

ईरान के गृहमंत्री ने बताया कि उपद्रव के दौरान ईरान में विदेश से हथियार लाने के प्रयास किये गए जिनमें से अधिकांश को विफल बना दिया गया।  उन्होंने कहा कि अफ़सोस की बात है कि उपद्रवी एंबुलेंसों, बैकों, कारों और अस्पतालों को आग लगा रहे थे।  इन लोगों ने कुछ स्थानों पर हत्याएं भी कीं।

गृहमंत्री अहमद वहीदी ने कहा कि सुरक्षा बलों को यह निर्देश दिया गया था कि वे हथियार लेकर न निकलें और केवल संवेदनशील स्थलों की सुरक्षा में ही गोली चला सकते हैं। 

ज्ञात रहे कि हालिया दिनों में देश की राजधानी तेहरान और कुछ अन्य नगर में होने वाले उपद्रव में उपद्रवियों ने जहां सुरक्षा बलों पर जानलेवा हमले किये वहीं पर सरकारी और निजी संपत्तियों को बहुत नुक़सान पहुंचाया।  ग़ैर सरकारी आंकड़ों के अनुसार ईरान में हालिया दिनों में होने वाले उपद्रव में मरने वालोंं की संख्या 35 है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

टैग्स