Sep २५, २०२२ १८:४६ Asia/Kolkata
  • उपद्रव के विरोध में निकली महारैली

हालिया दिनों में ईरान के कई शहरों में उपद्रवियों की ओर से मचाए गए उत्पात के ख़िलाफ़ आज 25 सितम्बर को तेहरान की जनता महारैली निकाली गई। 

देशव्यापी इस महारैली में बहुत बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया।

आज पैग़म्बरे इस्लाम (स) के स्वर्गवास और इमाम हसन अलैहिस्सलाम की शहादत के दिन लाखों लोगों ने हालिया दिनों में इस्लामी आस्था व प्रतीकों का अनादर करने वालों का विरोध किया।  उपद्रवियों ने हालिया उत्पात के दौरान पवित्र क़ुरआन और धार्मिक प्रतीकों का अपमान किया जिसपर लोगों में भारी आक्रोश पाया जाता है।  आज रविवार को निकाली जाने वाली रैली केवल राजधानी तेहरान तक सीमित नहीं थी बल्कि यह ईरान के दूसरे नगरों में भी निकाली गई।

इस महारैली का नाम उम्मते रसूलुल्लाह की महारैली दिया गया है। धार्मिक अंजुमनों और क़ुरआन से जुड़े केन्द्रों ने इस महारैली का आहवान किया है। उपद्रवियों ने अपनी उत्पात के दौरान क़ुरआन और धार्मिक प्रतीकों का अपमान किया जिस पर लोगों में भारी आक्रोश पाया जाता है।

महारैली का आहवान करने वाले संगठनों ने एक बयान में कहा था कि हमें बड़े खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि पैग़म्बरे इस्लाम (स) स्वर्गवास के अवसर पर हमने देखा कि धार्मिक प्रतीकों का अपमान किया गया। क़ुरआन, मस्जिदें और इस्लामी गणराज्य ईरान का पवित्र ध्वज जनता की नज़र में बड़ी अहमियत रखने वाली चीज़ें हैं, उपद्रवियों ने जिनका अपमान किया। उपद्रवियों ने एक व्यक्ति की आकस्मिक मौत के बहाने बहुत से बेगुनाहों की जान ले ली।

संगठनों ने अपने बयान में कहा कि हम पुलिस फ़ोर्स का आभार व्यक्त करते हैं कि उसने बड़ी मज़बूती और संयम से हालात को कंट्रोल किया। मगर अनुभव से साबित हो चुका है कि इस्लामी इंक़ेलाब जनता के हाथों कामयाब हुआ और जनता की मदद से ही अपना सफ़र तय कर रहा है इसलिए हम रविवार 25 सितम्बर 2022 को शाम चार बजे महारैली में भाग लेने के लिए लोगों का आहवान करते हैं।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

टैग्स