Sep २६, २०२२ १९:२१ Asia/Kolkata
  • दंगाईयों के समर्थकों को ईरान ने दिखाया आईना

इस्लामी गणतंत्र ईरान का कहना है कि ईरानी राष्ट्र के अधिकारों की रक्षा के दावेदार देश अपने झूठे नारे लगाना बंद करें और ईरानी राष्ट्र के विरुद्ध कई दशकों से जारी अमानवीय प्रतिबंधों को ख़त्म करें।

विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता नासिर कनआनी ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर ईरान के संबंध में अमरीका और पश्चिमी देशों के दोहरे मापदंडों की कड़ी आलोचना करते हुए लिखा है कि ईरान के मुक़ाबले में दुश्मन देशों का रवैया हमेशा दोग़ला और दोहरा रहा है और ईरान में होने वाले हालिया दंगों में अमरीका और कुछ यूरोपीय देशों के राजनैतिक नेताओं ने और इसी तरह इन देशों के मीडिया या उनके पिट्ठु मीडिया सहित इन देशों से प्रसारित होने वाले फ़ारसी भाषा के टीवी चैनलों ने दंगाईयों और उपद्रवियों का भरपूर समर्थन करके ईरानी राष्ट्र के हक़ में जितना अत्याचार कर सकते थे किया किन्तु लाखों की संख्या में ईरानी जनता ने सड़कों पर निकलकर और मैदानों पर जमा होकर अपने देश की व्यवस्था और अपने देश और इस्लामी क्रांति के समर्थन और वफ़ादारी का एलान तथा दंगाईयों और फ़ितना फ़साद फैलाने वालों से घृणा व्यक्त करके दुश्मनों की सारी योजनाओं पर पानी फेर दिया जबकि उनका यही मीडिया ईरानी जनता के इन प्रदर्शनों पर ख़ामोश रहा और या फिर इन प्रदर्शनों को सामान्य दिखाने का प्रयास किया।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता ने इससे पहले भी अमरीकी विदेशमंत्री के ट्वीट के जवाब में अपने एक ट्वीट में कहा था कि देश के अंदर या बाहर, अमरीका मानवाधिकारों के संबंध में अपने शर्मनाक रिकार्ड के बाद कैसे इस बात का साहस कर सकता है कि नैतिक मामलों में ख़ुद को महान समझे और दुनिया को नसीहत करने का प्रयास करे और अमरीकी विदेशमंत्री एंटनी ब्लैंकिन को यह मालूम होना चाहिए कि वह एक एसे देश के विदेशंमत्री हैं जहां की पुलिस ने केवल 9 महीने में 730 नागरिकों को फ़ायरिंग का निशाना बनाकर मौत के घाट उतार दिया जबकि मारे गये लोगों में ज़्यादातर श्यामवर्ण के नागरिक शामिल रहे हैं। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

टैग्स